कालेधन पर गठित SIT प्रमुख ने की सिफारिश: घरों में कैश रखने की सीमा हो तय, तभी दिखेगा नोटबंदी का असर

कालेधन पर गठित SIT के प्रमुख, न्यायाधीश एमबी शाह ने सिफारिश की है कि घरों में कैश रखने की सीमा तय हो तभी नोटबंदी का असर दिखेगा।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कालेधन पर गठित की गई SIT के अध्यक्ष न्यायाधीश एमबी शाह ने का है कि नोटबंदी सही दिशा में है। साथ ही देश को कैशलेस सिस्टम अपनाना अच्छी पहल है।

शाह ने कहा कि कुल काले धन का अनुमान लगाना मुश्किल है। कहा कि कई देशों में ज्यादा नकदी पर रोक है। बता दें कि शाह ने सिफारिश की है कि घरों में धन रखने की सीमा तय हो।

ब्लैक मनी पॉलिटिक्स: राजनीतिक दलों के खाते में जमा कैश पर नहीं लगेगा टैक्स

mb-shah-sit-black-money

मंत्री के कालेधन को सफेद करने वाले RBI के 4 कर्मचारी सीबीआई के रडार पर

कहा कि बिना नकदी की सीमा तय किए नोटबंदी बेअसर होगी। गौरतलब है कि उन्होंने सिफारिश किया है कि घरों में 15 लाख रुपए से ज्यादा कैश रखने पर पाबंदी हो।

उन्होंने कहा कि इस सिफारिश को मानने से भ्रष्टाचार कम होगा। साथ ही 8 नवंबर को किए गए विमुद्रीकरण के फैसले को शाह ने साहसी कदम बताया है।

सरकार का रुख सिफारशि से अलग

शाह ने कहा कि नकदी की सीमा तय होने से बिना खाते वाले पैसों पर रोक लगेगी।

गुड़गांव से नोट बदलने नोएडा आए 3 लोग गिरफ्तार, 18 लाख कैश बरामद

वहीं सरकार के सूत्रों के अनुसार एमबी शाह की इस सिफारिश पर विचार नहीं किया जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Justice Mb shah recommends limit for cash in home.
Please Wait while comments are loading...