झारखंड: हाथियों के डर से पेड़ पर रहने को मजबूर हैं कई परिवार

रांची से 45 किमी दूर लोहारातोला में कुछ परिवारों ने पेड़ों को ही अपना घर बना लिया है। वे बच्चों समेत पेड़ों पर रह रहे हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

रांची। झारखंड की राजधानी में हाथियों के आतंकी की वजह से कई परिवार पेड़ों पर रहने को मजबूर हैं। बीते दिनों रांची-जमशेदपुर हाइवे के आसपास रहने वाले लोगों और वहां से गुजरने वालों को भी हाथियों के आतंक का शिकार होना पड़ा था।

family on tree

रांची से 45 किमी दूर लोहारातोला में कुछ परिवारों ने पेड़ों को ही अपना घर बना लिया है। वे बच्चों समेत पेड़ों पर रह रहे हैं। बताया जा रहा है कि जंगली हाथियों ने कई बार गांवों में धावा बोला और घरों को तबाह कर दिया। इसी डर से कई परिवार खेतों के आसपास पेड़ों पर रहे रहे हैं।

पढ़ें: बैंक और ATM में नहीं लगाना चाहते लाइन तो ये है वो जगह जहां मिलेगा कैश

जानकी मुंडा ने कहा, 'दिन के समय हम खेती के काम में लगे रहते हैं। बच्चे ईंट के छोटे-छोटे टुकड़े जमा करते हैं ताकि हाथियों को मारकर भगाया जा सके। रात में सभी हाथियों के डर से पेड़ों पर ही सोते हैं।'

family

गांव के ही एक शख्स ने कहा, 'हाथियों ने हमारे घर बर्बाद कर दिए। दोपहर और रात में खुद को बचाना बड़ी चुनौती है। हम सब रात में मिलकर गांव की सुरक्षा करते हैं। हाथी कभी भी धावा बोल देते हैं।'

पढ़ें: नोटबंदी के 22वें दिन RBI ने लिया एक और बड़ा फैसला

गांव वालों की यह मुश्किल सरकार की ओर से किए गए तमाम वादों की पोल भी खोलती है। सरकार ने लगातार इस संबंध में वादे किए हैं लेकिन हकीकत कुछ और है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Jharkhand Family in Ranchi forced to live on trees because of terror of elephants.
Please Wait while comments are loading...