2 साल पहले से ही गिरने लगी थी जयललिता की सेहत, नहीं होने दिया था किसी को अहसास

एक पूर्व मंत्री का कहना है कि जेल से निकलने के बाद अम्मा बदल गई थीं। फिर उन्हें किसी चीज से खुशी नहीं मिली।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। सोमवार की देर रात तमिलनाडु की मुख्‍यमंत्री और इंडियन पॉलीटिक्‍स की 'अम्‍मा' जयललिता का चेन्‍नई के अपोलो अस्‍पताल में निधन हो गया। उन्‍हें कॉर्डियक अरेस्ट हुआ था। अम्‍मा पिछले 77 दिनों से अस्‍पताल में भर्ती थीं। ऐसा अचानक नहीं हुआ कि अम्‍मा की सेहत बिल्‍कुल गिरी हो बल्‍कि अम्‍मा की सेहत दो साल पहले से लगातार गिर रही थी। ये बात अलग है कि काफी दिनों तक उन्‍होंने अपनी गिरती सेहत का अहसास किसी को नहीं होने दिया। हालांकि वो पब्‍लिक फंक्‍शंस से दूरी बनाती गईं।
रॉयल थी जयललिता की लाइफ स्‍टाइल, 10000 साड़ियां, 750 चप्‍पलें, 28 KG सोना और... 

Jayalalithaa’s health declined after she was jailed in disproportionate assets case
 

नजर भी आईं तो व्हील चेयर पर

एक पूर्व मंत्री का कहना है कि जेल से निकलने के बाद अम्मा बदल गई थीं। फिर उन्हें किसी चीज से खुशी नहीं मिली। अपोलो में भर्ती होने से महज दो दिन पहले 20 सितंबर को वो एक प्रोग्राम में नजर आईं, लेकिन व्हील चेयर पर। जयललिता ने चेन्नई एयरपोर्ट मेट्रो लाइन का इनॉग्रेशन अपने ऑफिस से किया था।

जानिए रहस्यमयी जयललिता किस बॉलीवुड एक्टर की थीं फैन? 

यहां जयललिता ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मेट्रो का इनॉग्रेशन किया था। कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू शामिल हुए थे। चेन्नई में होने के बावजूद जयललिता अपने ऑफिस में रहीं और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रोग्राम में शरीक हुईं। जयललिता की सिक्युरिटी टीम के एक ऑफिसर ने कहा, "वो पहले से ही बीमार थीं। उस दिन जयललिता को व्हीलचेयर पर लाया गया था और वहां एक वीडियो शूट किया गया था।"

जेल से आने के बाद बिल्‍कुल बदल गईं अम्‍मा

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक जयललिता की सेहत कभी भी चिंता का विषय नहीं रही और ना इसको लेकर मुद्दा बना। लेकिन, सितंबर 2014 में आय से अधिक संपत्ति के मामले में जब उन्हें करीब 8 महीने के लिए कर्नाटक जेल भेजा गया, तब से हालात बदल गए। किसी को इस बात का अंदाज इसलिए नहीं हुआ क्‍योंकि जयललिता ने कभी भी अपने निजी जीवन में किसी को आने की इजाजत नहीं दी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
J Jayalalithaa’s health was never a matter of concern nor a public issue in Tamil Nadu until her imprisonment in September 2014 in a disproportionate assets case in which she was acquitted less than eight months later.
Please Wait while comments are loading...