जाटों ने 15 दिनों के लिए टाला आरक्षण आंदोलन, कल से होने वाला था प्रदर्शन

जाटों ने कल से होने वाले अपने आंदोलन को 15 दिनों के लिए टाल दिया है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जाट आरक्षण की मांग के लिए हरियाणा में एक बार फिर से जाटों का आंदोलन शुरू हो गया। जाट आरक्षण की मांग के लिए उठे इस आंदलोन ने हिंसक रूप ले ली है। हरियाणा के फतेहाबाद में आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई। इस झड़प में कुछ पुलिस वाले भी घायल हो गए। जिसमें कई पुलिसवाले भी घायल हो गए। वहीं सोमवार को जाट आंदलोनकारियों ने दिल्ली कूच करने की योजना बनाई है।

 Jat stir: Centre mobilises 247 companies of paramilitary forces

जाट आंदोलन के चलते दिल्ली की सपरक्षा बढ़ा दी गई है। हरियाणा से सटे एनसीआर इलाकों पर भारी तादात में सुरक्षाबल तैनात किए गए है। पुलिस ने बैरिकेट लगा रखे है, जिसकी वजह से हरियाणा से सटे तमाम बॉर्डर पर जाम लग गया है। दिल्ली से सटे जिलों में ट्रैक्टर-ट्रॉलियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है। वहींसोमवार को दिल्ली के बाहर मेट्रो की आवाजाही भी बंद कर दी गई है। जाट नेता यशपाल मलिक और अन्य अपनी मांगों को लेकर गतिरोध दूर करने के लिए दिल्ली में हरियाणा के मुख्यमंत्री से मुलाकात कर सकते हैं। हलांकि खबर आ रही है कि जाटों ने कल से होने वाले अपने आंदोलन को 15 दिनों के लिए टाल दिया है।

जाट आंदोलन को देखते हुए हरियाणा के 15 जिलों में रविवार को एहतियात के तौर पर धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई । गौरतलब है कि आरक्षण की मांग को लेकर हरियाणा के जाट समुदाय के लोगों ने पिछले साल उग्र प्रदर्शन किया था, जिसकी वजह से सार्वजनिकत संपत्ति को लाखों का नुकसान हुआ था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Centre has mobilised around 24,700 paramilitary personnel in various parts of Haryana, Delhi and Uttar Pradesh in view of the Jat protests.
Please Wait while comments are loading...