खराब मौसम के कारण 40 मिनट देरी से लॉन्च हुआ ISRO का INSAT-3DR

Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) 8 सितंबर को एडवांस वेदर सैटेलाइट जीएसएलवी- एफ 05/ इनसैट 3 डीआर का प्रक्षेपण कर दिया गया।

हालांकि INSAT-3DR को आज ही 4 बजकर 10 मिनट पर लॉन्च होना था लेकिन अब यह प्रक्षेपण 4बजकर 50 मिनट पर किया गया।

बताया जा रहा है कि यह देरी मौसम के कारण हुई है।

दो वर्षों में यूएन और जी-20 में पीएम ने कैसे पाक पर बोला है हमला

प्रक्षेपण सतीश धवन स्पेश सेंटर श्रीहरिकाटा से शाम के 4 बजकर 50 मिनट पर किया गया।

आईए आपको बताते हैं इसकी कुछ खास बातें जो स्पेस की दुनिया में भारतीय मायने में नया इतिहास रचेगी।

अफगानिस्तान के काबुल में दो आत्‍मघाती हमलों में 9 की मौत, 30 घायल

10 साल तक चलेगी यह सैटेलाइट

10 साल तक चलेगी यह सैटेलाइट

प्रक्षेपित होने के बाद यह सैटेलाइट 10 साल तक चलेगी। इसे मौसम की बेहतर जानकारी के लिए प्रयोग में लाया जा सकेगा।

यहां होगा प्रयोग

यहां होगा प्रयोग

इसकी मदद से रेस्क्यू और ऑपरेशनल सर्च में मदद मिलेगी। हालांकि यह काम 3 डीआर इनसैट 3 डी के साथ मिल कर करेगा जिसे 2013 में लॉन्च किया गया था। फिलहाल 3 डीआर का प्रयोग कोस्ट गार्ड, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया, जहाज और रक्षा सेवाओं के लिए किया जा रहा है।

GSLV की 10वीं उड़ान

GSLV की 10वीं उड़ान

जीएसएलवी- एफ05 की यह 10वीं उड़ान होगी जो 2,211 किलो वजनी वेदर सैटेलाइट को अपने साथ लेकर जाएगा।

मौसम संबंधी सेवाएं

मौसम संबंधी सेवाएं

यह सैटेलाइट देश को मौसम संबंधी सेवाएं प्रदान करेगा।

सोलर पैनल लग जाएंगे काम में

सोलर पैनल लग जाएंगे काम में

जीएसएलवी एफ 05, इनसैट 3 डीआर को जियोस्टेशनरी ट्रांसफर ऑर्बिट में पहुंचाएगा जहां सैटेलाइट के सोलर पैनल तुरंत अपने काम में लग जाएंगे।

कर्नाटक से होगा कंट्रोल

कर्नाटक से होगा कंट्रोल

सैटेलाइट का कंट्रोल इसरो के मास्टर कट्रोल फैसिलटी हसन, कर्नाटक से होगा।

लगेंगे कुल 17 मिनट

लगेंगे कुल 17 मिनट

सैटेलाइट के लॉन्च होने के बाद कुल प्रक्रिया में 17 मिनट लगेगा जिसमें इसके जियोस्टेशनरी ऑर्बिट के सर्कुलर में पहुंचने को शामिल किया जाएगा।

सभी तस्वीरें इसरो की वेबसाइट से।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ISRO to launch advanced weather satellite INSAT-3DR
Please Wait while comments are loading...