बाढ़ में बहकर असम से बांग्लादेश पहुंचे हाथी की मौत

Subscribe to Oneindia Hindi

असम। असम में अपने झुंड से बिछड़कर करीब 1,000 मील ( लगभग 1,610 किलोमीटर ) का सफर तय कर बांग्लादेश पहुंचने वाले बंगबहादुर हाथी की मौत हो गई।

Bangabahadur

दरअसल यह हाथी ब्रम्हपुत्र नदी में बाढ़ के प्रकोप में बह कर बांग्लादेश पहुंच गया था। उत्तरी बांग्लादेश के जमालपुर जिले के वन अधिकारी इस बात का प्रयास कर रहे थे कि बंगबहादुर को ढाका स्थित सफारी पार्क लेकर जाएं ताकि उसकी हालत ठीक हो सके लेकिन उसकी मौत हो गई।

Video: देखें कैसे एक छोटी सी ट्रिक से बाढ़ में फंसी महिला की बची जान

फिलहाल उसके मौत की असली वजह का पता नहीं चल पाया है। पूरी जानकारी शव परीक्षण के बाद ही मिल सकेगी।

हो गया था कमजोर

ढाका की स्थानीय मीडिया के अनुसार कमजोरी की वजह से बंगबहादुर के कंधे झुके हुए थे। बंगबहादुर की कठिन परीक्षा 27 जून को शुरू हुई थी जब असम के ढुबरी जिले में ब्रम्हपुत्र नदी में आए बाढ़ की वजह से वो बहकर बांग्लादेश के जमालपुर पहुंच गया था

दिल्ली में मंडराया बाढ़ का खतरा, यमुना खतरे के निशान से ऊपर

स्थानीय मीडिया के अनुसार जब बंगबहादुर की मौत के बाद गांव के कई लोग रोने लगे। गौरतलब है कि बंगबहादुर को वापस लाने के लिए अगस्त के पहले हफ्ते में ही भारत से टीम गई थी।

हां वो मर गया

भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे तपन कुमार डे ने बताया कि 'हां वो मर गया। हम उसे बचा नहीं सके।'

बंगबहादुर को बचाने में टीम इसलिए असफल हो गई क्योंकि वो नदी के इलाके में था और नदी के किनारे खड़े लोगों की वजह से वो बाहर नहीं आ सका।

सुबह 7 बजे हुई मौत

बताया गया कि बंगबहादुर की मौत मंगलवार सुबह 7 बजे हुई थी। इस मामले में यह भी बताया जा रहा है कि 11 अगस्त को बंगबहादुर को बेहोश करने वाली दवा दी गई थी लेकिन वो व्यथित और बेहोशी के हालत में था।

मुंबई पुल हादसे में लापता लोगों को ढूंढ़ने उतरी नौसेना

तपन ने आगे कहा कि शनिवार को वो सही हालत में था लेकिन लगातार दलदल में फंसे रहने की वजह से वो डिहाइड्रेशन का शिकार हो गया होगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian elephant that swept away in Bangladesh dies.
Please Wait while comments are loading...