सीएम ममता बनर्जी के आरोपों को सेना ने कहा बकवास

इंडियन आर्मी ने पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के तख्‍तापलट के आरोपों को बताया बकवास। कहा सिर्फ रुटीन एक्‍सरसाइज के तहत ही टोल प्‍लाजा पर मौजूद थे सेना के ट्रक।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कोलकाता। इंडियन आर्मी की ओर से पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी के उन आरोपों को बकवास करार दिया गया है जिसमें उन्‍होंने सेना पर तख्‍तापलट करने की कोशिशों का आरोप लगाया था। ईस्‍टर्न कमांड की ओर से ट्विटर के अलावा एक प्रेस कांफ्रेंस करके इस बाबत एक बयान जारी किया गया है।

indian-army-mamat-banerjee-coup

सेना की रुटीन एक्‍सरसाइज

इंडियन आर्मी के इस्‍टर्न कमांड की ओर से कहा गया है कि आर्मी पश्चिम बंगाल पुलिस की मदद से रुटीन एक्‍सरसाइज कर रही है।

ईस्‍टर्न कमांड के ऑफिसर मेजर जनरल सुनील यादव ने भी एक प्रेस कांफ्रेंस कर इस बात की जानकारी दी। उन्‍होंने बताया कि सेना टोल नाका पर कब्‍जा करने वाली है ऐसी खबरें बिल्‍कुल गलत हैं।

असम से लेकर त्रिपुरा तक

सेना की ओर से कहा गया है नॉर्थ ईस्‍ट में कई जगहों पर एक्‍सरसाइज चल रही है। इनमें असम के 18, अरुणाचल प्रदेश के 13, पश्चिम बंगाल के 19, मणिपुर के छह, नागालैंड और मेघालय के पांच-पांच, त्रिपुरा और मिजोरम के एक एक

जिले शामिल हैं। मेजर जनरल सुनील यादव ने कहा कि यह बातें कि सेना टोल नाकों पर लोगों से पैसे इकट्ठा कर रही है पूरी तरह से निराधार हैं।

डाटा कलेक्‍शन कर रही थी आर्मी 

मेजर सुनील यादव ने बताया कि ईस्‍टर्न कमांड की ओर से हर वर्ष होने वाले डाटा क्‍लेक्‍शन एक्‍सरसाइज चल रही थी। स्‍थानीय पुलिस के साथ मिलकर हर राज्‍य के एंट्री प्‍वाइंट पर लोड कैरियर्स की उपलब्‍धता के बारे में पता लगाया जा रहा था। 

उन्‍होंने बताया कि इस क्षेत्र में इस तरह के करीब 80 डाटा प्‍वाइंट्स को बनाया गया है। हर प्‍वाइंट पर बिना हथियार के पांच से छह जवाान मौजूद हैं।

ये जवान सिर्फ भारी वाहनों का डाटा इकट्ठा कर रहे थे। मेजर जनरल सुनील यादव ने बताया कि यूपी और बिहार में 26 सितंबर से एक अक्‍टूबर तक इसी तरह की एक्‍सरसाइज हुई है।

रक्षा मंत्री ने भी दिया बयान

वहीं रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने भी इस मामले को काफी दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया। उन्‍होंने लोकसभा में जानकारी दी कि आर्मी की एक रुटीन एक्‍सरसाइज को भी एक विवाद का विषय बना दिया गया है।

उन्‍होंने बताया कि पहले यह एक्‍सरसाइज 28,29 और 30 दिसंबर को होनी थी लेकिन बाद में तारीखें बदलकर एक और दो दिसंबर की गईं।

पार्रिकर के मुताबिक इस तरह की एक्‍सरसाइज पिछले वर्ष भी 19 से 21 नवंबर तक हुई थी। पिछले कई वर्षों से ऐसी एक्‍सरसाइज हो रही हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian Army's eastern command has made it clear that it was conducting a routine exercise in all North Eastern states.
Please Wait while comments are loading...