'द हिंदू' के हिसाब से तो 'सर्जिकल स्ट्राइक' पर भाटिया झूठे निकले?

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जब से भारतीय सेना ने पाक अधिकृत कश्मीर पर सर्जिकल स्ट्राइक दिया है, तब से ही इसे लेकर काफी दावे किए जा रहे हैं। हाल ही में यूपीए सरकार के कई मंत्रियों ने दावा किया था कि उन्होंने भी सर्जिकल स्ट्राइक किया था लेकिन कभी मोदी सरकार की तरह इतना प्रचार प्रसार नही किया था, जिसे कि सैन्य अभियानों के पूर्व महानिदेशक विनोद भाटिया ने गलत ठहराया था।

भारत ने पहले कभी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं किया : पूर्व डीजीएमओ

लेकिन द हिन्दू अखबार की खबर ने विनोद भाटिया को गलत साबित कर दिया है। पेपर के मुताबिक साल 2011 में इंडिया-पाकिस्तान के क्रास बार्डर पर दो बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी, जिसमें 13 सैनिक शहीद हुए थे। यही नहीं पाकिस्तान दो भारतीय सैनिकों के सिर को भी अपने साथ ले गया था, जबकि जवाब में तीन पाकिस्तानी सैनिकों के सिर भारतीय सैनिक अपने साथ ले आए थे।

पाक कलाकारों के बैन पर अब मुंह खोला आई लव माई इंडिया...गर्ल ने

यही नहीं पेपर का दावा है कि भारतीय सेना को सर्जिकल स्ट्राइक के लिए कुपवाड़ा बेस 28 डिविजन के मुखिया रहे रिटायर्ड मेजर जनरल एसके चक्रवर्ती ने ट्रेन किया था जिसे कि 'ऑपरेशन जिंजर' प्लान नाम दिया गया था।

सपा पोस्टर: मुलायम ने दी थी पीएम मोदी को सर्जिकल स्ट्राइक की सलाह!

आपको बता दें कि जनवरी 2013 में पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम ने लांस नायक हेमराज का सिर काट लिया था, इसके जवाब में भारतीय सेना ने 'ऑपरेशन बदला' चलाया था जिसमें 6 पाकिस्तानी सैनिक और आतंकवादी मारे गए थे और 'ऑपरेशन जिंजर' इंडियन आर्मी की सबसे खौफनाक आप्रेशन है लेकिन इसकी सच्चाई क्या है, अब इस बारे में लोगों को उत्सुकता पैदा हो गई है।

कौन सच्चा कौन झूठा?

लेकिन सैन्य अभियानों के पूर्व महानिदेशक विनोद भाटिया ने नेशनल चैनल पर कहा है कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की सरकार में कभी सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हुआ और पिछले सप्ताह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भारतीय सेना द्वारा किया गया सर्जिकल स्ट्राइक अपनी तरह का पहला अभियान है। यूपीए सरकार के मंत्री झूठ बोल रहे हैं। जिसके बाद लोगों को समझ नहीं आ रहा कि कौन सच बोल रहा है और कौन झूूठ?

इस बारे में आपका क्या सोचना है, अपनी राय नीचे के कमेंट बॉक्स में लिखें।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
According to The Hindu's report, the Indian Army had carried out surgical strikes across the LoC in 2011, in retaliation to a surprise attack on an army post in Gugaldhar ridge in Kupwara in July 2011 that killed six soldiers
Please Wait while comments are loading...