सेल्फी लेने के चक्कर मरने वालों में भारत है टॉप पर

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जब आप कहीं घूमने जाएं तो आपको सेल्फी लेते हुए बहुत से लोग मिल जाएंगे। यहां तक कि आप भी सोचेंगे कि एक दो सेल्फी लेकर अपने फेसबुक प्रोफाइल को अपडेट कर लें। लेकिन ऐसा करने से पहले आपको सेल्फी के चक्कर में मौत के मुंह में समाने वाले लोगों के इस डेटा को देखने की जरूरत है।

selfie

सामने आई बड़ी लापरवाही, किसी भी उंगली पर लगा दे रहे स्याही

दिल्ली के इन्द्रप्रस्थ इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेनक्नोलॉजी और अमेरिका के कार्नेजी मेलॉन यूनिवर्सिटी द्वारा की गई एक स्टडी के हिसाब से 2014 से लेकर अब तक सिर्फ भारत में 76 लोगों की सेल्फी लेने के चक्कर में मौत हो चुकी है।

इस स्टडी का शीर्षक रखा गया है 'मी, मायसेल्फ एंड माय किल्फी: कैरेक्टराइजिंग एंड प्रिवेंटिंग सेल्फी डेथ्स'। रिसर्च से इस बात का खुलासा हुआ है कि मार्च 2014 से अब तक दुनिया भर में 127 लोगों की मौत हो गई है।

खतरनाक प्रदूषण को भूले लोग, उसी हवा में घंटों लगती हैं लाइनें

शेयर और लाइक के लिए लेते हैं सेल्फी

अक्सर लोग फेसबुक पर अपनी फोटोज पर लाइक और कमेंट बढ़ाने के लिए एक से बढ़कर एक सेल्फी लेकर डालते हैं। यही कारण है कि लोग सेल्फी के चक्कर में मौत के मुंह में चले जाते हैं।

रिसर्चरों ने ब्लॉग पोस्ट में लिखा है कि 2015 में सेल्फी के चक्कर में इतनी अधिक मौतें हुई हैं, जितनी शार्क के हमले से पूरे देश में भी नहीं हुई हैं। यह भी दिखाता है कि कितनी खतरनाक स्थिति हो गई है।

नोटबंदी से 80% रोजगार पर खतरा, आधी GDP को हो सकता है नुकसान

पाकिस्तान दूसरे नंबर पर

पाकिस्तान इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर है, जहां पर सेल्फी लेने के चक्कर में 9 लोगों को मौत हुई है। वहीं इसके बाद नंबर आता है अमेरिका का 8 मौतों के साथ और फिर रूस का 6 मौतों के साथ।

स्टडी के अनुसार चीन की कुल आबादी में से सिर्फ चार लोगों की सेल्फी की वजह से मौत हुई है। आपको बता दें कि चीन की आबादी 1.37 अरब है, जबकि भारत की आबादी 1.25 अरब है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India tops ranking for selfie deaths
Please Wait while comments are loading...