बोले स्वरूप- सिर्फ भारत नहीं दुनिया जानती है पाक है गुनाहगार

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा कि मैं इस बात की जानकारी देना चाहूंगा कि विदेश सचिव ने पाक के विदेश सचिव को जम्मू और कश्मीर से संबंधित पत्र का जवाब 19 अगस्त को दे दिया था।

s jai shankar and vikas swarup

अपने पत्र में विदेश सचिव ने पाक से कहा है कि भारत सरकार जम्मू कश्मीर के विषय पर परिणाम उन्मुख बातचीत चाहती है।

विदेश सचिव ने इस बात को भी दोहराया कि आगे होने वाली किसी भी चर्चा का आधार शिमला समझौता 1972, लाहौर डिक्लरेशन 1999 और 2004 में जारी किया गया संयुक्त बयान होगा।

आतंकियों की पनाहगाह बनने पर अमेरिका ने लगाई पाक को लताड़

पाकिस्तान प्रमुख अपराधी

स्वरूप के मुताबिक विदेश सचिव ने इस बात पर जोर दिया कि आतंकवाद चिंता का विषय और सिर्फ भारत ही नहीं, अधिकतर यह मानते हैं कि पाकिस्तान प्रमुख अपराधी है।

प्रवक्ता के अनुसार भारत और पाक के बीच बातचीत सिर्फ सीमा पार से आतंकवाद और पाक की ओर से हिंसा की शह पर होगी।

क्‍यों पाकिस्‍तान से दूर और भारत के नजदीक हो रहा है अमेरिका?

दाऊद इब्राहम के संबंध में विकास स्वरूप ने कहा कि उसके बारे में मौजूदा जानकारी संयुक्त राष्ट्र के 1267वीं समिति की ओर से की गई निगरानी बाद सामने आई है।

4 नए बिंदु आए सामने

स्वरूप ने बताया कि नई जानकारी से 4 मुख्य बिंदु सामने आए हैं।

जिसमें पहला है कि दाऊद इब्राहिम का नाम अभी भी विश्व के आतंकियों की सूची में शामिल है, दूसरा बिंदु है 1267वीं टीम दाऊद का पासपोर्ट एक वैध कागजात के रूप में बनाए रखना चाहती है, तीसरा बिंदु है कि संयुक्त राष्ट्र ने भी इस बात की पुष्टि की है कि दाऊद और उसकी संपत्तियां पाक में हैं।

स्वरूप ने कहा कि चौथ बिंदु है कि संयुक्त राष्ट्र दाऊद इब्राहिम पर अपनी निगाह रखे हुए है।

स्वरूप ने यह भी कहा कि दाऊद के संबंध में उसके पते की पुष्टि होने के बाद भी कुछ अन्य रिकॉर्डस भी हैं जो भारत द्वारा दिए जाएंगे।इसमें दाऊद की पत्नी,पिता और उस कुछ अन्य लोगों के नाम शामिल हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India seeks result-oriented talks with Pak on JK.
Please Wait while comments are loading...