पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते पर सहमति देने वाला 62वां देश बना भारत

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत धरती का तापमान 2 डिग्री से नीचे करने के लिए दुनिया भर के 191 देशों के बीच हुए पेरिस जलवायु परिवर्तन समझौते पर औपचारिक रूप से हस्ताक्षर करने वाला 62वां देश बन गया। भारत दुनिया का तीसरा वह देश है जो सबसे ज्यादा कार्बन उत्सर्जन करता है।

climate

दो अक्टूबर यानी गांधी जयंती के दिन संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत सैयद अकबरूद्दीन ने इस बारे में हस्ताक्षरित दस्तावेज संयुक्त राष्ट्र संधि विभाग के प्रमुख को सौंपा। भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दोनों ही इसके लिए मंजूरी दे चुके हैं।

जलवायु परिवर्तन समझौता क्या है

दुनियाभर के 191 देशों के बीच एक साल पहले एक समझौता हुआ था, इसके तहत सभी देशों को मिलकर दुनिया का तापमान 2 डिग्री तक कम करना होगा। इसके लिए कार्बन उत्सर्जन कम करने की दिशा में कदम उठाने पर सहमति बनी थी।

भारत तीसरा सबसे अधिक कार्बन उत्सर्जन करने वाला देश

भारत के नागरिक प्रति व्यक्ति कार्बन उत्सर्जन 2.5 टन से कम करते हैं जबकि अमेरिका और चीन इस मामले में कई गुना आगे हैं। अमेरिका में प्रति व्यक्ति 20 टन कार्बन उत्सर्जन करता है। परंतु जनसंख्या के लिहाज से हम ज्यादा हैं इसलिए हम पर धरती को प्रदूषित करने का आरोप ज्यादा लगता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India formally joined the Paris Climate Change Agreement by submitting its instrument of ratification at UN headquarters in New York on Sunday - the birth anniversary of Mahatma Gandhi.
Please Wait while comments are loading...