जुबानी जंग में नवाज शरीफ को भारत ने दिया करारा जवाब

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर और बुरहान वानी का मुद्दा उठाकर भारत को घेरने की कोशिश की, लेकिन भारत ने भी उन पर जोरदार पलटवार किया। यही नहीं नवाज शरीफ के भाषण से पाकिस्तान का झूठ भी दुनिया के सामने आ गया।

यूएन में बेनकाब हुआ पाकिस्तान, जानिए कैसे?

बुधवार को संयुक्‍त राष्‍ट्र संघ महासभा में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने एक के बाद एक भारत पर आरोप लगा रहे थे।

जिसके बाद भारत ने भी यूएन में दुनिया के सामने पाकिस्‍तान की हकीकत बताई। भारत ने साफ कर दिया है कि पाकिस्‍तान वह देश है जो आतंकवाद को मेहमान की तरह पालता है।

बुरहान का जिक्र कर कैसे खुद घिरा पाकिस्तान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर और बुरहान वानी का जिक्र तो किया लेकिन उन्हें जवाब भी जोरदार मिले हैं। सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में मारे गए हिजबुल आतंकी बुरहान वानी को युवा नेता बताते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कहा कि वह अब कश्मीरी जनता का रोल मॉडल है। नवाज शरीफ ने उसे कश्मीरी आंदोलन का नेता करार दिया।

युद्ध की आशंका के बीच पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने भरी उड़ान

भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र के सबसे बड़े मंच पर हिजबुल आतंकी बुरहान वानी की तारीफ करके पाकिस्तान ने साबित कर दिया कि वह आतंकवाद का समर्थक है और उसके आतंकियों से संबंध हैं। पाकिस्तान अपने एक हाथ में बंदूक थामकर बातचीत करना चाहता है। वार्ता और हिंसा साथ-साथ नहीं चल सकता।

बातचीत रद्द करने के आरोप पर भारत ने दिया ये जवाब

भारत-पाकिस्तान के बीच शांति बहाली को लेकर कहा कि यह तब तक संभव नहीं है जब तक कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता। द्विपक्षीय बातचीत के मुद्दे पर कहा कि पाकिस्तान हमेशा बातचीत के लिए तैयार है लेकिन भारत ही नहीं मान रहा। बातचीत खारिज करने के लिए भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि भारत ने गैरवाजिब शर्तें रखकर बातचीत रद्द कर दी।

UN में बोला भारत, आतंकवाद को मेहमान मानता है पाकिस्‍तान

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने इसका जवाब देते हुए कहा कि UNGA में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने भारत पर गैरवाजिब शर्तें लगाकर बातचीत रोकने का आरोप लगाया है। भारत की एक ही शर्त है- आतंकवाद का खात्मा। क्या यह पाकिस्तान को स्वीकार नहीं है?

भारत ने पाकिस्तान को बताया आतंक फैलाने वाला

नवाज शरीफ ने कश्मीर में भड़की हिंसा के दौरान बच्चों, महिलाओं के कत्ल का आरोप लगाया और स्वतंत्र जांच की मांग की।

पीएम मोदी को मिला नीतीश का साथ, कहा- आतंकवाद पर नहीं हो राजनीति

संयुक्त राष्ट्र में भारत की डिप्‍लोमैट एनाम गंभीर ने एक बयान जारी किया। उन्‍होंने कहा है कि पाकिस्‍तान में बिलियन डॉलर की रकम हर वर्ष आती है और इसमें से एक बड़ा हिस्‍सा अंतराष्‍ट्रीय मदद के तौर पर आता है। इस रकम को आतंकी संगठनों को मदद करने, उन्‍हें ट्रेनिंग देने और पड़ोसियों के खिलाफ प्रॉक्‍सी वॉर चलाने के लिए प्रयोग किया जाता है।

कश्मीर के मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान को दिया दो टूक जवाब

नवाज शरीफ ने कश्मीर में फैली अशांति की वजह भारत को बताया। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत वहां लोगों पर अत्याचार कर रहा है। भारतीय सेना पर कश्मीरियों के मानवाधिकारों के हनन और एक्ट्रा ज्यूडिशियल किलिंग का भी आरोप लगाया।

तार काटकर आर्मी बेस में घुसे थे आतंकी, उरी हमले से जुड़े 5 नए खुलासे

यूएन में भारतीय डिप्लोमैट गंभीर के मुताबिक सरकार और अथॉरिटीज की मदद से कई आतंकी संस्‍थान खुलेआम पैसा इकट्ठा करते हैं। उन्‍होंने आगे कहा है कि भारत और इस क्षेत्र में दूसरे देश पाक की आतंकवाद को समर्थन देने वाली लंबी न‍ीतियों का बुरा प्रभाव झेलने को मजबूर हैं।

क्या पाकिस्तान कभी अपनी हरकतों से बाज आएगा?

भारत-पाकिस्तान के बीच शांति बहाली को लेकर कहा कि यह तब तक संभव नहीं है जब तब कश्मीर मुद्दा नहीं सुलझ जाता। इसका हल यूएन प्रस्ताव लागू किए बिना नहीं हो सकता।

उरी आतंकी हमले का बदला, एलओसी क्रॉस कर सेना ने मारे 20 आतंकी?

नवाज शरीफ के इस बयान पर भारतीय डिप्लोमैट गंभीर ने कहा कि तक्षशिला की जमीन जिसे प्राचीन दौर में सीखने का एक बड़ा केंद्र माना जाता था आज आतंकवाद का गढ़ बन चुका है। आज पाकिस्‍तान आतंकवाद सीखने और इसे फैलाने वालों के लिए आकर्षण का केंद्र है। इसका जहरीला असर दुनिया पर पड़ रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India gave answers to Pak PM nawaz sharif on his speech at UNGA.
Please Wait while comments are loading...