भारत ने 15 बार कुलभूषण जाधव से मुलाकात की रखी मांग, पाकिस्तान ने नहीं दिया कोई जवाब: MEA

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बताया कि भारत के पास कुलभूषण जाधव को लेकर कोई जानकारी नहीं है। आखिर उन्हें कहा रखा गया है और उनकी स्थिति क्या है? इसको लेकर कोई जानकारी नहीं मिल रही है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पाकिस्तान में मौत की सजा पाने वाले भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर विवाद गहराता जा रहा है। अब इस मामले में पाकिस्तान की पोल खुलती नजर आ रही है। पाकिस्तान की ओर से दावा किया गया है कि उन्होंने सभी कानूनी प्रक्रिया के तहत कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई है। वहीं इस मामले में सच्चाई कुछ और ही नजर आ रही है।

विदेश मंत्रालय ने कहा, पाकिस्तान नहीं दे रहा कोई जवाब

भारत की ओर से कहा गया है कि कुलभूषण जाधव के पास राजनयिक पहुंच को लेकर 15 बार पाकिस्तान से आग्रह किया गया लेकिन उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। भारत केवल जाधव से मिलना चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने कोई जवाब नहीं दिया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने दी जानकारी

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बताया कि भारत के पास कुलभूषण जाधव को लेकर कोई जानकारी नहीं है। आखिर उन्हें कहा रखा गया है और उनकी स्थिति क्या है? इसको लेकर कोई जानकारी नहीं मिल रही है। बता दें कि पाकिस्तान की सैन्य कोर्ट ने जासूसी के आरोप में भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा सुनाई है। पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल कमर अहमद बाजवा ने जाधव की सजा की पुष्टि की थी।

'राजनयिक पहुंच को लेकर 15 बार किया गया आग्रह'

गोपाल बागले ने आगे कहा कि पाकिस्तान जाधव के मामले में सही कानूनी कार्रवाई की बात कर रहा है, अगर ऐसा है तो हम जाधव को देखना चाहते हैं। भारत की ओर से कुलभूषण जाधव के लिए राजनयिक पहुंच को लेकर 15 बार आग्रह किया गया, लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई। भारत की ओर से कहा गया कि हमने पाकिस्तान ओर जाधव मामले में की गई कार्रवाई का सबूत मांगा है लेकिन कोई सबूत नहीं दिया गया। वहां के सरकारी अधिकारियों का भी कोई बयान सामने नहीं आया है।

पाकिस्तान की कोर्ट ने जाधव को सुनाई है मौत की सजा

बता दें कि कुलभूषण जाधव को पिछले साल पाकिस्‍तान ने जासूसी के आरोप में बलूचिस्‍तान से गिरफ्तार किया था और 10 अप्रैल को उसे मौत की सजा सुनाई गई है। पाकिस्‍तान ने दावा किया कि जाधव, भारत की इंटेलीजेंस एजेंसी रॉ का जासूस था जबकि भारत का कहना है कि जाधव के रिटायर होने के बाद इंटेलीजेंस से उसका कोई लेना-देना नहीं है।

जाधव मामले में भारत-पाकिस्तान के बीच ठनी

भारत का कहना है कि जाधव बेकसूर है और पाकिस्‍तान को अपना फैसला बदलकर उसे रिहा कर देना चाहिए। फिलहाल इस मुद्दे की वजह से भारत और पाकिस्‍तान के रिश्‍तों में फिर से खटास आ गई है। दोनों देशों की ओर से कई कूटनीतिक प्रयास हुए हैं लेकिन इनमें कोई सफलता हाथ नहीं लग सकी है।

इसे भी पढ़ें:- पाकिस्तानी जेलों में बंद इन भारतीयों को छुड़ाने में आप कर सकते हैं मदद, पहचानिए इन्हें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India concerned about Kulbhushan Jadhav well-being in Pakistan: MEA
Please Wait while comments are loading...