चलती रेल से आईएएस अधिकारी ने किया प्रभु को ट्वीट, बताया राजधानी के अंदर क्या चल रहा है

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। लगातार चर्चाओं में रहने वाले हरियाणा के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी अशोक खेमका ने इस बार रेल में मिलने वाले खाने और सुविधा पर सवाल उठाए हैं।

ashok

पाकिस्तानी हिंदुओं को मोदी सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

नौकरशाही और राजनीति में भष्ट्राचार पर लगातार हमले करने को लेकर चर्चा में रहने वाले आईएएस अधिकारी अशोक खेमका के निशाने पर इस बार रेल मंत्री सुरेश प्रभु हैं।

अशोक खेमका ने ट्वीट कर सुरेश प्रभु को रेल में मिलने वाली सुविधाओं का हाल बताया है। खेमका ने बताया कि ढिबरुगढ़ राजधानी में दिल्ली से इलाहाबाद के लिए जा रहा हूं। खाना बेहद खराब है और मीनू के हिसाब से भी नहीं है। शिकायत के लिए पुस्तिका मांगी तो वो भी नहीं दी गई।

पढ़ें: पाक हमारा मोस्ट फेवर्ड नेशन है (MFN),जानिए इसका मतलब

ये ट्वीट इसलिए भी अहम है क्योंकि सुरेश प्रभु लगातार खुद को रेल की बेहतरी के लिए काम करने वाला बताते हैं और ट्वीट पर ही यात्रियों की समस्याएं हल करते हैं। कई बार ट्वीट को आधार बनाकर ही उन्होंने रेल कर्मचारियों पर कार्रवाई की है।

 

प्रभु सर कुछ करें, अब तो आपके दिन भी कम ही बचे हैं

अशोक खेमका के ट्वीट पर कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। एक यूजर ने लिखा कि प्रभु सर कुछ कीजिए, वैसे भी आपका ज्यादा समय नहीं बचा है। यूजर का इशारा अगले साल से रेल बजट को आम बजट में मिलाए जाने की ओर है।

पढ़ें: 24 घंटे JIO के साथ, ना कॉल कनेक्ट हुआ और ना वो स्पीड मिली

एक अन्य यूजर ने इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा कि अब प्रभु सर कुछ नहीं कहेंगे वहीं कोई तारीफ कर दे तो फट से रीट्वीट कर देते हैं।

पाक उच्चायुक्त अब्दुल बासित तलब, दिए गए उरी हमले से जुड़े सबूत

अशोक खेमका अपने काम करने के अलग अंदाज के लिए जाने जाते रहे हैं। सोशल मीडिया पर भी खेमका अपने शब्दों से नेताओं और अफसरों पर निशाने साधते रहते हैं।

अशोक खेमका हरियाणा में सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की एक डील के खुलकर विरोध में सामने आने के बाद चर्चा में आए थे। खेमका का अपने करियर में जल्दी-जल्दी तबादलों का भी रिकॉर्ड रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
IAS officer Ashok khemka raises question about food quality in rail
Please Wait while comments are loading...