अमीर बीवी या कुछ और...आखिर क्या है डीएम मुकेश पांडेय के सुसाइड की असली वजह?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। बक्सर के जिला अधिकारी मुकेश कुमार पांडेय की आत्महत्या की खबर बिहार समेत पूरे देश के लिए काफी चौंकाने वाली है क्योंकि मुकेश कुमार ने जहां जहां अब तक अपना योगदान दिया, वहां उनकी छवी बेदाग और कड़क मिजाज की थी। ऐसे मे उनका सुसाइड करना किसी के गले से नहीं उतर रहा है।

बक्सर के डीएम ने घरेलू झगड़े से तंग आकर की आत्महत्या, सीएम नीतीश ने जताया दुख

सभी यही सोच कर परेशान हो रहे हैं कि आखिरकार ऐसी क्या मजबूरी होगी जिसने एक पढ़े-लिखे और ईमानदार जिला अधिकारी को सुसाइड करने पर मजबूर कर दिया है।

आइए एक नजर  डालते हैं डीएम के सफर पर

बिहार के सारण जिले के रहने वाले मुकेश पांडे की परवरिश गरीबी में हुई थी। गरीबी में पले बढ़े मुकेश पांडे की शिक्षा गुवाहटी में हुई, मुकेश पांडे ने गुवाहाटी से ही बीए ऑनर्स किया था।

आल्टरनेटिव लर्निंग सिस्टम कोचिंग सेंटर

यहीं से स्नातक करने के बाद ये दिल्ली चले गए थे, जहां इन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू की, इसके लिए इन्होंने आल्टरनेटिव लर्निंग सिस्टम कोचिंग सेंटर में प्रवेश लिया। तैयारी करने के बाद पहली बार में वह यूपीएससी की परीक्षा में कामयाब नहीं हुए लेकिन दूसरी बार बिना किसी कोचिंग में पढ़ाई किए हुए ही UPSC निकाला। जिसमें उन्हें ऑल इंडिया मे 14 वीं रैंक मिली।

जिन्दगी से तंग आने की वजह से मौत को गले लगाया...

जिन्दगी से तंग आने की वजह से मौत को गले लगाया...

आपको बताते चलें की जिलाधिकारी मुकेश पांडे ने आत्महत्या करने से पहले अपने घरवालों को एक संदेश भेजा था जिसने आत्महत्या करने की बात कही थी। जिस संदेश में उन्होंने कहा था कि जिन्दगी से तंग आने की वजह से उन्होंने मौत को गले लगाने का फैसला किया है। जैसे ही जिला अधिकारी के द्वारा इस तरह मैसेज आया, उनके परिजन परेशान हो गए और उन्होंने तुरंत पुलिस अधिकारियों से संपर्क साधा। फिर बिहार पुलिस अधिकारियों की मदद से दिल्ली पुलिस को सूचना दी गई तथा मदद करने की गुहार लगाई गई।

 ट्रेन से कटकर जान दे दी

ट्रेन से कटकर जान दे दी

जिसके बाद दिल्ली पुलिस DM की तलाश में जनकपुरी पहुंची लेकिन वहां पर आत्महत्या की कोई भी जानकारी नहीं मिली। फिर दिल्ली पुलिस ने सभी को अलर्ट कर दिया। इतने में ही उन्हें सूचना मिली कि गाजियाबाद रेलवे स्टेशन पर एक व्यक्ति ने ट्रेन से कटकर जान दे दी है। जैसे ही दिल्ली पुलिस उस व्यक्ति को देखने के लिए वहां पहुंची उनका दिमाग़ चकरा गया। वह कटी हुई लाश जिला अधिकारी मुकेश पांडे की थी।

मामले की जांच...

मामले की जांच...

दिल्ली पुलिस ने मुकेश पांडे द्वारा भेजे गए संदेश के आधार पर मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी। अपने घर वाले को दिए संदेश में उन्होंने कहा था कि मैं अपना सुसाइड नोट दिल्ली के होटल लीला पैलेस के रूम नंबर 742 में छोड़ दूंगा। दिल्ली पुलिस संदेश के आधार पर लीला पैलेस पहुंची और कमरे से सुसाइड नोट बरामद किया। मामले की जानकारी देते हुए बिहार के डीजीपी डीके ठाकुर ने बताया कि अधिकारी के द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में मौत के लिए किसी को जिम्मेदार नहीं ठहराया गया है। सुसाइड नोट में 3 मोबाइल नंबर मिले हैं जिसमें लिखा गया है कि मेरी मौत के बाद इन नंबरों पर जानकारी दे दिया जाए। फिलहाल पुलिस मामले को सुसाइड मान कर जांच कर रही है।

पहली बार बने थे जिला अधिकारी.....

पहली बार बने थे जिला अधिकारी.....

2012 बैच के आईएएस ऑफिसर मुकेश पहली बार 4 अगस्त को बक्सर जिले के जिला अधिकारी बनाए गए थे । इससे पहले कटिहार के डीडीसी पद पर तैनात थे। बक्सर में बतौर जिला अधिकारी के पद पर जॉइन करने के बाद गुरुवार की सुबह अपने संबंधित अधिकारियों से रिश्तेदार की तबीयत खराब होने की बात बताते हुए दिल्ली चले गए। ऐसा कहा जा रहा है कि दिल्ली में ही किसी बात को लेकर उनकी पत्नी और ससुर से कहासुनी हुई थी तथा उनके सुसाइड नोट में दर्ज नंबर सास और ससुर के हैं।

अपने वैवाहिक जीवन से खुश नहीं थे मुकेश पांडे...

अपने वैवाहिक जीवन से खुश नहीं थे मुकेश पांडे...

मुकेश पांडे की शादी राजधानी पटना के बहुत बड़े कारोबारी की बेटी से हुई थी। ऐसा कहा जा रहा था कि शादी के बाद दोनों की जोड़ी मेल नहीं खाती थी और हमेशा किसी बात को लेकर विवाद होता रहा था। उनकी शादी 18 नवंबर 2013 को कारोबारी राकेश कुमार सिंह की बेटी से शाही अंदाज में राजधानी पटना के मौर्या होटल में हुई थी।

पत्नी से होती थी खटपट

शादी के बाद दोनों पति पत्नी के बीच हमेशा किसी न किसी बात को लेकर विवाद बना रहता था। महज कुछ ही महीनों में इन दोनों के रिश्ते में खटास आ गई। ऐसा कहा जा रहा है कि लड़की का हाईफ़ाइ होना और लड़के का मध्यम वर्गीय संस्कार और सोच दोनों के बीच विवाद की मुख्य वजह थी फिलहाल दोनों को शादी से अभी तीन महीने की बच्ची है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A senior IAS officer from Bihar was found dead near the railway tracks in Ghaziabad, with police recovering a suicide note from the spot.
Please Wait while comments are loading...