होटल में चल रहा था सेक्स रैकेट, ग्राहकों के लिए कमरे में बंद थीं पांच लड़कियां

आरोप है कि पिंटू ने लड़कियों को होटल इंडस्ट्री में नौकरी का लालच देकर अपने चंगुल में फंसाया था। वह होटल ले जाकर पहले उनका ब्रेनवॉश करता था और फिर उन्हें देह व्यापार में धकेल देता था।

Subscribe to Oneindia Hindi

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिले में पुलिस ने छापेमारी करके मानव तस्करी और सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। होटल में की गई छापेमारी के दौरान पांच महिलाओं को मुक्त कराया गया जिनमें एक नाबालिग भी शामिल है।

sex racket

सीआईडी के सूत्रों ने बताया कि इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें रैकेट का मास्टरमाइंड पिंटू मैटी भी शामिल है। पिंटू करीब 20 दिन से फरार चल रहा था।

पढ़ें: दरिंदा बना बाप, सगी बेटी और बेटे के अलावा दो भतीजियों से भी किया रेप

कई राज्यों में था इस रैकेट का नेटवर्क
एक अधिकारी ने कहा, 'हमें जानकारी मिली थी कि पिंटू तस्करी का रैकेट चलाता है, जिसके मुंबई, तमिलनाडु और केरल तक लिंक हैं। सीनियर अधिकारियों के नेतृत्व में एक होटल में छापा मारा गया और पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया। इनमें दो मैनेजर भी शामिल हैं।'

नौकरी का लालच देकर फंसाता था
आरोप है कि पिंटू ने लड़कियों को होटल इंडस्ट्री में नौकरी का लालच देकर अपने चंगुल में फंसाया था। वह होटल ले जाकर पहले उनका ब्रेनवॉश करता था और फिर उन्हें देह व्यापार में धकेल देता था। ये लड़कियां ज्यादातर आर्थिक रूप से पिछड़े घरों से होती थीं।

पढ़ें: सरकारी अस्पताल ने नहीं दिया स्ट्रेचर, पति को घसीटकर वार्ड तक ले गई महिला

होटल में चलाता था देह व्यापार का धंधा
वह लड़कियों को पहले ग्राहकों से मिलवाता था और फिर उन्हें अलग-अलग शहरों में बेच देता था। वह होटल में देह व्यापार का धंधा भी चलाता था। मैटी होटल में लड़कियां लाता था और बाहर के काम देखता था, जबकि एक अन्य मैनेजर होटल के दूसरे काम देखता था। पिंटू बीते तीन साल से सेक्स रैकेट चला रहा था। उसने भारत के दक्षिण और पश्चिमी राज्यों में अपना नेटवर्क फैलाया था।

पढ़ें: पाकिस्तान के रास्ते भारत को बड़ा फायदा पहुंचा सकता है चीन

इन धाराओं के तहत दर्ज हुआ केस
गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 366 (किडनैप, जबरन शादी के लिए अगवा करना), 370 (किसी इंसान को बेचना), 370ए (खरीदे या बेचे गए इंसान का उत्पीड़न), 120बी (आपराधिक साजिश) के अलावा इमॉरल ट्रैफिक (प्रिवेंशन) एक्ट 1956 की धारा 3/4/5/6/7/9 के तहत केस दर्ज किया गया है। पीड़ित लड़कियों को बिहार के आरा जिले से लाया गया था और होटल के एक कमरे में बंद रखा गया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
human trafficking racket busted in west bengal 5 women rescued.
Please Wait while comments are loading...