समझना होगा कि एक महिला की 'ना' का मतलब 'ना' ही होता है: अमिताभ बच्चन

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। महिलाओं के हक की बात करने वाले सिने अभिनेता अमिताभ बच्चन ने उम्मीद जताई है कि अब 'जीरो एफआईआर' प्रक्रिया में सुधार होगा और देश की महिलाओं को अब किसी भी मामले में FIR करवाने में दिक्कत नहीं होगी।

अमिताभ ने बयां किया महिलाओं का दर्द, जो हर पल होती हैं सेक्सिज्म की शिकार

अमिताभ ने कहा कि उन्हें सरकार से पूरी उम्मीद है कि वो महिलाओं के लिए एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया को जल्द ही आसान बनाने के लिए कानून में कुछ बदलाव  करेंगे क्योंकि देश में बहुत सारी महिलाओं को उन कानूनी प्रक्रियाओं के बारे में नहीं पता, जो उनकी मदद कर सकती हैं। जानकारी के अभाव में महिलाएं जुल्म की शिकार होती रहती हैं।

नवरात्रि 2016: 'अश्व' पर आएंगी मां दुर्गा, परेशान नेतागण

मालूम हो कि सिने अभिनेता की हालिया रिलीज फिल्म 'पिंक' भी महिलाओं के उन्हीं कानून पर प्रकाश डालती है जिससे कि देश की अधिकांश औरतें और लड़कियां अनभिज्ञ हैं। फिल्म को मिली जबरदस्त प्रक्रिया से खुश अमिताभ ने कहा कि हमें उम्मीद नहीं थी कि लोग इसे इतना सपोर्ट करेंगे।

पीएम मोदी के बारे में अमिताभ ने जो कहा, सुनेंगे तो हैरान हो जायेंगे

जिसके बारे में बात करते हुए अमिताभ ने कहा कि कोशिश अगर रंग लाती है तो निश्चित तौर पर आपको खुशी होती है जिसके लिए मैं शूजित सरकार को बधाई दूंगा। 'पिंक' केवल एक फिल्म नहीं है बल्कि एक अभियान है जिसमें ये बताया गया है कि एक महिला की 'ना' का मतलब 'ना' होता है

अपनी अश्लील फोटो पर बोलीं सोफिया.. बाबा रामदेव से ज्यादा कपड़े पहनती हूं...

समाज में बढ़ रहे महिलाओं के प्रति अपराध के बारे में बिग बी ने कहा कि शिक्षा, कानून, नैतिक और सामाजिक क्षेत्र में बदलाव के साथ मां-बाप का भी फर्ज बनता है कि वो अपने बच्चों को महिलाओं का आदर करना सिखाएं और उन्हें अच्छे संस्कार दें तभी इस समस्या का समाधान निकलेगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Amitabh Bachchan says that ministers have given hope that certain changes in law will make the process of filing FIRs easier for women soon post Pink.
Please Wait while comments are loading...