चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस: CCTV पर पुलिस की चुप्पी, प्रेस कॉन्‍फ्रेंस बीच में छोड़कर चले गए SSP

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चंडीगढ़। हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला के खिलाफ छेड़छाड़ मामले में पुलिस की कार्रवाई और रवैये पर सवाल उठ रहे हैं। इस मामले को लेकर सोमवार शाम 5 बजे चंडीगढ़ पुलिस के एसएसपी ईश सिंघल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्‍होंने मीडिया द्वारा पूछे गए कुछ ही सवाल के जवाब दिए। लेकिन जब उनसे सीसीटीवी फुटेज से जुड़े अहम सवालों पर जवाब मांगा गया तो वो कन्‍नी काट लिया। मीडिया ने जब सवाल बार-बार पूछा तो वो बीच में ही कॉन्‍फ्रेंस छोड़कर चले गए।

चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस: CCTV पर पुलिस की चुप्पी, प्रेस कॉन्‍फ्रेंस बीच में छोड़कर चले गए SSP

एसएसपी ईश सिंघल ने कहा कि इस केस का मीडिया ट्रायल हो रहा है। हम अपने स्तर पर हर एंगल से जांच कर रहे हैं। जरुरत पड़ने पर धारा जोड़ी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पुलिस पर कोई दबाव नहीं है। अगर दबाव होता तो घटना के तुरंत बाद ही मामला दर्ज नहीं किया जाता। सीसीटीवी फुटेज बरामद न होने के बयान पर सिंघल ने कहा कि पुलिस हर सीसीटीवी के फुटेज ले रही है। इस तरह की कोई बात नहीं है। हर कैमरा चेक किया जा रहा है।

सीसीटीवी कैमरे के सवाल पर क्‍या कहा एसएसपी ने

प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी सिंघल ने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस बिना किसी दबाव के काम करने वाली एजेंसी है। उन्होंने कहा, 'हम किसी दबाव में नहीं हैं, अगर दबाव होता तो पहले ही दिन हम एफआईआर दर्ज क्यों करते?' केस में किडनैपिंग की धारा न जोड़े जाने से जुड़ा सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो और धाराएं भी जोड़ी जाएंगी।

इस मामले में सीसीटीवी फुटेज को लेकर भी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। यह जानकारी भी सामने आई थी कि जिस इलाके में छेड़छाड़ हुई, वहां के सीसीटीवी फुटेज ही गायब हैं। इसी आधार पर यह कहा जा रहा है कि पुलिस आरोपी को बचाने की कोशिश कर रही है। इस बारे में सवाल पूछे जाने पर सिंघल ने कोई सीधा जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा, 'वारदात वाले रूट पर जो भी सीसीटीवी लगे हैं हम उनकी छानबीन कर रहे हैं।'

क्या है मामला?

शुक्रवार रात करीब 11-12 बजे चंडीगढ़ में एक आईएएस अफसर की बेटी अपनी कार से जा रही थी। लड़की का आरोप है कि कार सवार दो लड़कों ने उसका पीछा किया। उसकी कार के आगे अपनी कार अड़ाकर रोका। गेट से बाहर खींचने की कोशिश की। लड़की ने तुरंत पुलिस को फोन लगाया। मदद के लिए मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों आरोपियों को अरेस्ट कर लिया। पुलिस के मुताबिक आरोपी नशे में थे। इनमें से एक हरियाणा के बीजेपी चीफ सुभाष बराला का बेटा था। पुलिस ने शनिवार को दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जमानत दे दी गई। अब विक्टिम की मांग है कि आरोपियों पर किडनैप की धारा भी लगाई जाए।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
On Tuesday, Eish Singhal, SSP Chandigarh denied that the police were under any political pressure in the investigation regarding a stalking case involving the Haryana BJP president's son.
Please Wait while comments are loading...