VIDEO: हरियाणा सरकार को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए महिला एंकर ने घूंघट में पढ़ा न्‍यूज बुलेटिन

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। हाल ही में हरियाणा सरकार की तरफ से एक विज्ञापन जारी किया गया थ जिसमें लिखा गया था ' घूंघट की आन-बान, म्हारी हरियाणा की पहचान'। इस विज्ञापन को लेकर काफी विवाद भी हुआ। लेकिन अब इस विज्ञापन के विरोध में एक नया मोड़ आ गया है। जी हां हरियाणा की एक महिला न्‍यूज एंकर ने इस विज्ञापन के विरोध में घूंघट पहनकर न्‍यूज पढ़ा। विरोध का यह नया तरीका सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

VIDEO: हरियाणा सरकार को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए महिला एंकर ने घूंघट में पढ़ा न्‍यूज बुलेटिन

क्‍या कहा एंकर ने

इस महिला न्‍यूज एंकर का नाम प्रतिमा दत्त है। उन्‍होंने घूंघट पहनकर न्‍यूज पढ़ते हुए कहा कि ''इस घूंघट से कुछ भी देख पाना बेहद मुश्किल है। यह एक मजबूरी लगती है। कुछ परंपराएं कहती हैं और कुछ समाज की बेडियां ये घुंघट नहीं एक बेड़ी है।"

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं की मूहिम चलाने वाली हरियाणा सरकार पर निशाना साधते हुए प्रतिमा ने कहा, ''जो घूंघट बेटियों की मजबूरी है, जिसे पहनने के लिए उन्हें मजबूर किया जाता है भला उसे कैसे हरियाणा सरकार आन-बान शान बता सकती है"।

VIDEO: जानिए क्‍यों यह लेडी एंकर घूंघट में पढ़ रही है न्‍यूज

कौन है प्रतिमा दत्त

प्रतिमा एसटीवी न्यूज़ की एग्ज़ीक्यूटिव एडिटर हैं। बुलेटिन की शुरुआत में प्रतिमा ने कहा कि उन्होंने घूंघट हरियाणा सरकार के ऐड का विरोध करने के लिए लिया है। जनता का रिपोर्टर वेबसाइट को प्रतिमा ने बताया कि वो हरियाणा सरकार के 'घूंघट ओढ़ने के हुक्म' के खिलाफ हैं। सरकार के 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' जैसे कैंपेन का क्या मतलब जब उसे हमारे सिर पर घूंघट के सिवा कुछ नहीं चाहिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Haryana news anchor Pratima Dutta reads news bulletin wearing a veil to protest Haryana govt. Watch video.
Please Wait while comments are loading...