मोदी-शाह के लिए सबसे बड़ी चुनौती बने बाप-बेटे, नए खुलासे से और बढ़ेगी मुसीबत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर खूब निशाना साधा था। नरेंद्र मोदी हर जनसभा में कहते थे कि मां-बेटे ने देश को पीछे धकेला। अब तीन साल बीतने के बाद कांग्रेस के मां-बेटे तो पीएम मोदी के लिए चुनौती नहीं रहे लेकिन उन्हीं की पार्टी के एक बाप-बेटे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ बीजेपी चीफ अमित शाह की मुश्किल को बढ़ा दिया है। खुद को पार्टी विद डिफरेंस कहने वाली बीजेपी को समझ नहीं आ रहा कि आखिर बाप-बेटे के मामले से कैसे निकले।

नए मामले ने बढ़ाई हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष की मुश्किल

नए मामले ने बढ़ाई हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष की मुश्किल

बेटे विकास बराला के बाद भतीजे विक्रम बराला ने हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला की मृुश्किल को बढ़ा दिया है।रेप के एक मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को तलब कर स्टेट्स रिपोर्ट मांगी है। जिसमें सुभाष बराला के भतीजे आरोपी हैं। एक न्यूज चैनल से बातचीत में पीड़िता ने विक्रम बराला के खिलाफ केस को खोलवाने की बात कही है। पीडि़ता की इस लड़ाई में उसको चंडीगढ़ में चंडीगढ़ नें छेड़खानी का शिकार हुई वर्णिका कूंडू का साथ मिल गया है।

Chandigarh Stalking: Vikas Barala accepts he followed Varnika Kundu in Police Investigation।वनइंडिया
सुभाष बराला के भतीजे पर रेप का आरोप

सुभाष बराला के भतीजे पर रेप का आरोप

पीड़िता का आरोप है कि मई के महीने में सुभाष बराला के भतीजे लगने वाले उन्हीं के परिवार के दो लड़कों कुलदीप बराला और विक्रम बराला ने उसका अपहरण कर रेप किया और किसी को ना बताने की धमकी दी। इस मामले में हरियाणा पुलिस ने पहले तो एफआईआर ही दर्ज नहीं की, लेकिन बाद में पीड़ित लड़की के परिवार और गांव के लोगों के विरोध प्रदर्शन के बाद पुलिस को जनता के दबाव चलते एफआईआर दर्ज कर ली। हालांकि राज्य के बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के राजनीतिक रसूख और दबाव के चलते एफआईआर दर्ज होने के बावजूद पुलिस ने कोई भी कार्रवाई नहीं की और उल्टा पीड़ित नाबालिग लड़की पर ही उसके बयानों से पलटने के लिए दबाव बनाना शुरु कर दिया। इसके बाद पीड़ित लड़की के परिवार ने पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया और याचिका दायर की। पीड़िता ने याचिका में पुलिस की कार्यवाही पर सवाल खड़े करते हुए कोर्ट से न्याय की गुहार लगाई है। इस मामले में अगली सुनवाई 31 अगस्त को होगी।

पीड़िता को मिला वर्णिका कूंडू का साथ

पीड़िता को मिला वर्णिका कूंडू का साथ

टोहाना की इस पीड़िता की लड़ाई में चंडीगढ़ में छेड़खानी की शिकार हुई वर्णिका कूंडु का साथ मिल गया है। वर्णिका कुंडू के पिता वीरेंद्र कूंडु ने पीडि़ता की हर संभव मदद का भरोसा दिया है। वहीं वीरेंद्र कूंडू ने कहा है कि विकास बराला कि गिरफ्तारी तो ठीक है लेकिन असली न्याय तो कोर्ट से मिलेगा जिसके लिए लंबी लड़ाई लड़नी होगी। आपको बता दें कि चंडीगढ़ में छेड़खानी का शिकार हुई वर्णिका कूंडु को देशभर से समर्थन मिल रहा है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Haryana bjp chief subhash Barala's relative accused of forcing minor to drop rape charges
Please Wait while comments are loading...