गाय का शव फेंकने से किया मना तो 10 लोगों ने गर्भवती दलित महिला को पीटा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

अहमदाबाद। गुजरात के बनासकांठा जिले के करजा गांव में एक शर्मनाक मामला सामने आया है, यहां दरबार समुदाय के करीब 10 लोगों ने एक दलित परिवार के लोगों को बुरी तरह से पीट डाला, जिसमें एक गर्भवती महिला भी शामिल है।

भारत-पाक में युद्ध हुआ तो मैं भी बॉर्डर पर लड़ने जाऊंगा: अन्ना हजारे

इस परिवार की गलती सिर्फ इतनी थी इन लोगों ने गाय के शव को फेंकने से मना कर दिया था। जिसके बाद दरबार समुदाय के लोग दबंगई पर उतर आये और इंसानियत को ताक पर रखकर गर्भवती महिला समेत पूरे परिवार को लोगों को बुरी तरह पीट डाला। प्रेंग्नेट महिला की हालत गंभीर है और वो अस्पताल में भर्ती है।

रंगों के आधार पर जानिए कौन है अच्छा और कौन है बुरा?

इस मामले में पीड़ित महिला के पति निलेश रनवासिया ने दरबार समुदाय के 10 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने आईपीसी और एससी-एसटी उत्पीड़न रोकथाम कानून की धाराओं के तहत मामला दर्ज करते हुए 6 लोगों को अरेस्ट किया है।

अगर दिल की बात नहीं कह पा रहें तो अपनाइये ये Astro Tips

पुलिस ने मीडिया को बताया कि निलेश रनवासिया की शिकायत पर हम ने मामला दर्ज करते हुए 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। निलेश की पत्नी संगीता का काफी चोटें आयी हैं, वो अस्पताल में हैं, इसके अलावा परिवार की और दो महिलाओं को भी चोटें आयी हैं। इस घटना में निलेश भी घायल था लेकिन उसे मामूली चोटें आयी थीं और उसे अस्पताल से छुट्टी मिल गई है।

जानिए विवाहित महिलाओं के लिए मंगल-सूत्र क्यों है जरूरी?

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान बतावरसिंह चौहान (26), मकनुसिंह चौहान (21), योगी सिंह चौहान (25), बावरसिंह चौहान (45), दिलवीर सिंह चौहान (23) और नरेंद्र सिंह चौहान (23) के तौर पर की गई है, बाकी चार लोगों की तलाश जारी है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A Dalit family, including a pregnant woman, was allegedly assaulted at Karja village in Gujarat’s Banaskantha district after they refused to dispose of a cow carcass on Saturday.
Please Wait while comments are loading...