कोक, पेप्सी समेत 5 सॉफ्ट ड्रिंक में पाए गए जहरीले तत्व, सरकारी जांच में खुलासा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अगर आपको कोल्ड ड्रिंक पीना पसंद है तो ये खबर आपके लिए है। सरकारी जांच में पता चला है कि कोका कोला और पेप्सी समेत पांच सॉफ्ट ड्रिंक कंपनियों के पेय में कई जहरीले तत्व पाए गए हैं।

coca cola

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कराई गई जांच

सरकारी जांच में पता चला है कि कोका कोला, पेप्सी , ड्यू, स्प्राइट और 7अप में एंटीमनी, लीड, क्रोमियम और कैडमियम और डीईएचपी या डीआई (2-एथिलहेक्सिल) फथालेट जैसे जहरीले तत्व मिले हैं।

जो दुनिया के सामने नहीं माना वो अपनी फौज से कहा नवाज ने

ये पूरी जांच स्वास्थ्य मंत्रालय के शीर्ष समिति के जरिए कराई गई है। ड्रग्स टेक्निकल एडवाइजरी बोर्ड (डीटीएबी) द्वारा कराई गई जांच में दो बड़ी कोल्ड ड्रिंक कंपनियों पेप्सिको और कोका कोला समेत पांच कोल्ड ड्रिंक्स ब्रांड में जहरीले तत्व की मात्रा ज्यादा मिली है।

इन कोल्ड ड्रिंक्स के पेट बॉटल्स (पॉलीथिलीन टेरेफथेलेट) भी इसमें शामिल हैं। बता दें कि माउंटेन ड्यू और 7अप पेप्सिको का ही ब्रांड है वहीं स्प्राइट कोका कोला कंपनी के अंतर्गत आती है।

इसी साल फरवरी-मार्च में लिए गए सैंपल्स

बता दें कि कोल्ड ड्रिंक कंपनियों के सैंपल्स इसी साल फरवरी-मार्च में परीक्षण के लिए लिए गए थे। इसमें पाया गया कि जैसे-जैसे इन कोल्ड ड्रिंक्स को कमरे के तापमान पर रखा गया इसमें जहरीले तत्वों की मात्रा बढ़ने लगी।

खुशखबरी: एयरटेल यूजर 25 रुपए में पाएं 1 जीबी डेटा, जानिए कैसे

बता दें कि डीटीएबी के दिशा-निर्देशों के तहत ही स्वास्थ्य मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले कोलकाता स्थित ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हाइजीन एंड पब्लिक हेल्थ (एआईआईएचपीएच) में इन कोल्ड ड्रिंक्स की जांच की गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जांच के बाद एआईआईएचपीएच ने कुछ दिन पहले ही डीटीएबी के डायरेक्टर जनरल जगदीश प्रसाद को इससे जुड़े परिणाम सौंप दिए। पिछले साल भी संस्थान ने पेट बॉटल्स में मिलने वाली कई दवाओं के खास टेस्ट किए थे, जिसमें भारी मेटल्स पाए गए थे।

पेप्सीको ने जांच की जानकारी से किया इंकार

फिलहाल स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट पर पेप्सीको के प्रवक्ता ने कहा कि हमें अभी तक इस जांच से जुड़ी कोई जानकारी नहीं मिली है। हमें ये भी नहीं पता जांच में कौन से तरीके का इस्तेमाल किया गया है। बिना रिपोर्ट और उसकी जांच का तरीका जाने, हम इस पर कुछ नहीं कह सकते।

भारत से बीस गुना तेजी की तैयारी में पड़ोसी चीन, 5G का ट्रायल शुरू

उन्होंने जरूर कहा कि हम अपने उत्पादों में फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्डस के नियमों का पूरी तरह से पालन करते हैं। हालांकि कोका कोला की ओर से इस मामले में कोई जवाब नहीं दिया गया है। पेट कंटेनर मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन को भेजे गए सवालों के जवाब नहीं मिल पाए हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ), लीड और कैडमियम को शीर्ष दस हानिकारक रसायनों में रखता है। इसे लोगों की सेहत के लिए बड़ी समस्या करार दिया है। खास कर बच्चों के लिए ये रसायन और लीड ज्यादा खतरनाक है। बच्चों के स्वास्थ्य पर लीड से गहरा प्रभाव होता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
government study has found five different toxins in cold drinks produced by two major multinational companies, PepsiCo and Coca Cola.
Please Wait while comments are loading...