कश्मीर में अशांति के लिए उपद्रवी जला रहे स्कूल, बुरहान वानी के पिता ने किया विरोध

अलगाववादियों ने अशांति फैलाने के लिए निकाला नया तरीका। हाई कोर्ट ने दिए सख्ती से निपटने के आदेश।

Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। मारे गए आतंकी बुरहान वानी के पिता ने बेटे की मौत के बाद कश्मीर में भड़की हिंसा के दौरान स्कूलों को जलाए जाने की घटना का विरोध किया है और इस काम को गलत बताया है।

Read Also: कश्मीर में फिर लगाई गई स्कूल में आग, धधक-धधक कर जल उठी बिल्डिंग

kashmir school

मुजफ्फर वानी ने कहा, गलत है स्कूलों को जलाना

मुजफ्फर वानी ने कहा है कि जो लोग स्कूलों में आग लगा रहे हैं, वह गलत काम कर रहे हैं और इसे किसी भी तरीके से सही नहीं ठहराया जा सकता।

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट को यह बताया गया है कि पिछले 115 दिनों के दौरान कश्मीर में जारी हिंसा में आतंकियों और प्रदर्शनकारियों ने 26 स्कूलों को फूंक दिया है।

अलगाववादियों की साजिश

खुफिया विभाग के एक अधिकारी का कहना है कि शिक्षण संस्थाओं को जलाने की साजिश अलगाववादी कर रहे हैं।

उनका कहना है, 'हमें शक है कि जमात ए इस्लामी के स्थानीय नेता स्कूलों पर हमले की योजना बनाते हैं। इसके बावजूद वे सब अभी भी कश्मीर दक्षिणी कश्मीर में खुलेआम घूम रहे हैं।'

kashmir school2

12 सितंबर के बाद बढ़ी स्कूलों को जलाने की घटना

सूत्रों का कहना है कि 12 सितंबर की ईद उल अज़हा के बाद कई स्कूलों को आग के हवाले किया गया है।

इस बारे में खुफिया एजेंसी के अधिकारी का कहना है कि 12 सितंबर तक प्रदर्शनकारियों के हिंसक प्रदर्शन और पत्थरबाजी पर कंट्रोल किया गया था।

अधिकारी ने कहा, 'इसके बाद समस्या पैदा करनेवालों ने अपनी रणनीति बदल दी और स्कूलों को निशाना बनाना शुरू कर दिया। यह तरीका अपनाकर वह यह दिखाना चाहते हैं कि कश्मीर में शांति नहीं लौटी है।'

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट ने सोमवार को पुलिस और प्रशासन को स्कूलों की सुरक्षा करने के निर्देश दिए हैं और शिक्षण संस्थानों पर हमला करनेवालों का पर्दाफाश कर उनसे सख्ती से निपटने को कहा है।

Read Also: पाक ने फिर की बॉर्डर पर फायरिंग: सांबा-राजौरी में 8 की मौत, दो पाकिस्तानी सैैनिक भी मरे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In Kashmir, troublemakers are burning the schools to disturb the peace in the valley. High Court ordered to tackle this problem.
Please Wait while comments are loading...