वरुण गांधी ने खारिज किए डिफेंस सीक्रेट लीक के आरोप, बोले मुझे बदनाम करने की साजिश

भाजपा सांसद वरुण गांधी ने खुद के ऊपर लगे डिफेंस सीक्रेट लीक के आरोपों को सिरे से खारिज किया है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। भाजपा सांसद वरुण गांधी ने खुद के ऊपर लगे डिफेंस सीक्रेट लीक के आरोपों को सिरे से खारिज किया है।

Varun

इस बाबत उन्‍होंने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि उनको बदनाम किए जाने की साजिश हो रही है।

वरुण गांधी ने यह भी कहा कि जिस एडमंड्स एलन ने मेरे खिलाफ आरोप लगाते हुए पत्र लिखा है। उस व्‍यक्ति से मैं कभी नहीं मिला हूं। न ही उस व्‍यक्ति को मैं जानता हूं।

वरुण गांधी ने आगे यह भी कहा कि जिन लोगों ने मुझे बदनाम करने की कोशिश की है। उन लोगों के खिलाफ मैं कानूनी कार्रवाई करूंगा।

स्कॉर्पियन पनडुब्बी मामला: वरुण गांधी के खिलाफ आरोपों का आर्म्‍स डीलर अभिषेक ने किया खंडन

आरोपों को लेकर पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी

बीजेपी सांसद वरुण गांधी पर डिफेंस सीक्रेट लीक करने का आरोप लगा है। यूपी चुनाव से ठीक पहले सामने आए इस आरोप की वजह से उनकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। उनके खिलाफ अमेरिकी वकील और हथियारों के सौदागर सी एडमंड्स एलन ने प्रधानमंत्री कार्यालय के नाम चिट्ठी लिखकर शिकायत की है।

उन्होंने चिट्ठी में लिखा है कि वरुण गांधी को ब्लैकमेल करके विदेशी हथियार निर्माताओं ने डिफेंस सीक्रेट हासिल किए हैं। चिट्ठी में यह भी कहा गया है कि वरुण को विदेशी कॉल गर्ल्स और वेश्याओं के साथ खींची गई तस्वीरों के जरिए ब्लैकमेल किया गया है।

अमेरिकी वकील की ओर से यह चिट्ठी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर और देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को भेजी गई है। शिकायत में यह भी आरोप लगाया गया है कि विवादास्पद हथियार कारोबारी अभिषेक वर्मा ने बीजेपी सांसद का इस्तेमाल अपने फायदे के लिए किया है और उनके जरिए डिफेंस सीक्रेट हासिल किए हैं।

बड़ा आरोप: विदेशी कॉलगर्ल के साथ तस्वीरें दिखाकर वरुण गांधी से हासिल किए गए डिफेंस सीक्रेट

प्रशांत भूषण ने उठाए थे सवाल

दोनों पहले थे पार्टनर अभिषेक वर्मा और एलन साल 2012 से पहले पार्टनरशिप में बिजनेस कर रहे थे। एलन ने आरोप लगाया है कि संसदीय रक्षा समिति का सदस्य होने के नाते वरुण गांधी ने अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल किया और देश की सुरक्षा के खिलाफ काम किया।

अभिषेक वर्मा और एलन साल 2012 से पहले पार्टनरशिप में बिजनेस कर रहे थे। एलन ने आरोप लगाया है कि संसदीय रक्षा समिति का सदस्य होने के नाते वरुण गांधी ने अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल किया और देश की सुरक्षा के खिलाफ काम किया।

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने इस पूरे मामले में मोदी सरकार की ओर से कार्रवाई न किए जाने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि नेवी वार रूम लीक से जुड़े सबूत मिलने के बाद भी सरकार खामोश क्यों है। उन्होंने इसके पहले राफेल डील पर भी सवाल उठाया और सवाल किया कि सरकार ने इस मामले में कार्रवाई करने के बजाय सीधे डील साइन क्यों कर ली।

जानिए क्‍या है हनी ट्रैप जिसके ताजा शिकार बने हैं वरुण गांधी!

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP MP Varun Gandhi issues a statement after he was accused of being honey-trapped into leaking defence secrets.
Please Wait while comments are loading...