बैन किए गए नोट के बदले सोना बेचने की वजह से देशभर के ज्वैलर्स पर आई शामत

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोट बैन के फैसले के बाद देशभर में कई लोग घर में रखे पुराने नोटों के बदले ज्वैलर्स की दुकानों से सोना खरीदने के लिए टूट पड़े।

सूचना मिलने के बाद इनकम टैक्स और एक्साइज के अधिकारी टीम बनाकर जगह-जगह तलाशी अभियान चला रहे हैं। अब एक्साइज अधिकारियों ने देशभर के 25 शहरों के 600 ज्वैलर्स को सोने की बिक्री की डिटेल्स बताने को कहा है।

Read Also: नोट बैन: सोना बेचने की वजह से देशभर के ज्वैलर्स पर आई शामत

gold note 500 1000 rupee ban

देशभर में सोना बेचने वालों पर आईटी और एक्साइज की नजर

मोदी सरकार के फैसले के बाद देशभर में, खासतौर पर दिल्ली, मुंबई और पंजाब के इलाकों में इनकम टैक्स और एक्साइज के अधिकारी तलाशी में लगे हैं।

इस बारे में एक अधिकारी का कहना है कि आईटी डिपार्टमेंट के पास ऐसी सूचनाएं हैं कि कम कीमत पर पुरानी करेंसी बेचे जा रहे हैं या फिर उनके बदले सोना खरीदा जा रहा है। हमें इसको रोकना है। इसलिए तलाशी चल रही है।

पुरानी करेंसी लेकर ज्वैलर्स ऊंची कीमत पर बेच रहे सोना

आईटी और एक्साइज डिपार्टमेंट के पास ऐसे ज्वैलर्स और ट्रेडर्स के बारे में सूचनाएं आ रही हैं जो लोगों से पुरानी करेंसी के बदले ऊंची कीमत पर सोना बेच रहे हैं। लोग काले धन को सफेद करने के लिए यह तरीका अपना रहे हैं, जिसे रोकने में अधिकारी लगे हुए हैं।

इस ऑपरेशन में पुलिस अधिकारियों के साथ-साथ 100 से ज्यादा इनकम टैक्स अधिकारियों की टीम को लगाया गया है जो देशभर में बहुत बड़े पैमाने पर कैश के ट्रांजेक्शंस का पता लगा रहे हैं।

मोदी के फैसले के बाद अचानक बढ़े सोने के दाम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही 500 और 1000 के नोटों पर पाबंदी की घोषणा की, उसके ठीक बाद सोने के दाम काफी बढ़ गए और 31,820 रुपए प्रति 10 ग्राम की दर से बिकने लगे। जबकि चांदी भी प्रति किलो 45,000 रुपए तक चला गया।

Read Also: मोदी से पहले भी हो चुका है ऐसा बोल्ड फैसला, जानिए तब कौन थे पीएम?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Income tax and excise officials are conducting search and survey operation against those jewelers which are selling gold taking banned notes.
Please Wait while comments are loading...