'कंडोम घोटाले' से कर्नाटक की राजनीति में उबाल, घेरे में सीएम और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरु। कावेरी विवाद अभी पूरी तरह से थमा नहीं था कि कर्नाटक की राजनीति में 'कंडोम' ने कोहराम मचा दिया। जी हां कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री पर कंडोम घोटाले का आरोप लगा है। भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस सरकार ने कंडोम वितरण में करोड़ों रुपए की धांधली की है।

Ex-BJP corporator alleges scam in condom purchase
  

आरोप है कि राज्‍य सरकार ने सरकारी एजेंसियों से कंडोम खरीदने के बजाय प्राइवेट कंपनियों से खरीदे। इतना ही नहीं उन कंडोम का वितरण कागज पर ही पूरा कर लिया गया। सरकार ने कंडोम वितरण और एड्स के इलाज में खर्च होने वाले करोड़ों के खर्च का हिसाब किताब सामने नही रखा है।

VIDEO: कुत्‍तों पर 'कुरुक्षेत्र', सरेआम मां-बेटी की जूतों से पिटाई, तमाशा देखते रहे लोग 

अंग्रेजी अखबर डेक्‍कन हेराल्‍ड के मुताबिक भाजपा नेता एनआर रमेश का आरोप है कि ये घोटाला कर्नाटक राज्‍य के एड्स प्रिवेंशन सोसायटी (KSAPS) में हुआ जिसे केंद्र और राज्‍य सरकार के अलावा बिल गेट्स फाउंडेशन से भी काफी पैसा मिलता है। रमेश ने आरोप लगाया है कि पूरे मामले में 500 करोड़ रुपए की हेराफेरी हुई है। रमेश का कहना था कि कर्नाटक के सीएम एड्स सोसाइटी के अध्यक्ष है और स्वास्थ्य मंत्री उपाध्यक्ष हैं। 

इस एक्‍ट्रेस के साथ चूहों ने कुछ ऐसा किया कि अब नहीं करेंगी ट्रेन में सफर

सेक्‍स वर्करों, समलैंगिकों और रेड लाइट इलाकों में बांटा जाना था कंडोम

आपको बता दें कि इस वितरण प्रोगाम के तहत राज्‍य सरकार को सेक्‍स वर्करों, समलैंगिकों, रेड लाइट इलाकों में रहने वाले लोगों और ट्रक चालकों को नियमित रूप से कंडोम बांटा जाना था।

IAS बीके बंसल ने बेटे के साथ की खुदकुशी, पत्‍नी और बेटी पहले ही कर चुकी हैं सुसाइड

भाजपा ने आरोप लगाया है कि ऐसा हुआ नहीं और कागज पर इसे सफल बताकर पैसा दबा लिया गया। इतना ही नहीं भाजपा ने यह भी आरोप लगाया है कि राज्‍य सरकार ने एड्स से जुड़े हजारों लोगों का टेस्‍ट किए जाने का भी दावा किया लेकिन इसका लेखा-जोखा नहीं दिया।

जानिए कर्नाटक में कितने हैं एड्स से पीडि़त

एक रिपोर्ट के मुताबिक कर्नाटक में 82000 महिलाएं, 29000 समलैंगिक और 1700 किन्‍नर एड्स से पीडि़त हैं। संख्‍या इतनी बड़ी है उसके बावजूद भी यह घोटाला हुआ। रमेश ने आरोप लगाया है कि इस पूरे प्रकरण में सबसे ज्‍यादा गड़बड़ी तब हुई जब यूटी खादर कर्नाटक के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री थे। उल्‍लेखनीय है कि खादर मौजूदा समय में सिविल सप्लाइज मंत्री हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The Karnataka State Aids Prevention Society (KSAPS), which is under the state health ministry, has allegedly misused funds meant for condom distribution, says former BJP corporator NR Ramesh. At least Rs 500 crore has been misused, he says.
Please Wait while comments are loading...