चुनाव आयोग ने दी चेतावनी, कहा- आचार संहिता उल्लंघन के मामले पर नहीं बैठेंगे चुप

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सख्त चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को चेतावनी दी है। आयोग ने कहा है कि वो मूकदर्शक बन कर नहीं रहेगा। राजनीतिक दलों के पदाधिकारियों को एक पत्र के जरिए आयोग ने यह याद दिलाया कि जिन 5 राज्यों में चुनाव की घोषणा की गई है वहां 4 जनवरी से ही आदर्श आचार संहिता लागू है जो नेताओं को संप्रदायिक बयान देने से रोकती है।  

चुनाव आयोग ने दी चेतावनी, कहा- आचार संहिता उल्लंघन के मामले पर नहीं बैठेंगे चुप

कहा गया है कि राजनीतिक दल और उसके नेता ऐसे बयान ना दें तो धर्म के आधार पर समाज के वर्गों में शांति और भाईचारे को बिगाड़ने का काम करे। कहा है कि शांतिपूर्ण ढ़ंग से चुनाव कराना जरूरत है। अपने पत्र में सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का उल्लेख करते हुए आयोग ने कहा है कि राजनीतिक दल इस विषय में एडवाइजरी जारी करें। बता दें कि आयोग ने यह पत्र भारतीय जनता पार्टी के नेता और सांसद साक्षी महराज के विवादित बयान के बाद आयोग ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसी के बाद आयोग ने यह पत्र जारी किया है।

गौरतलब है कि बीती 4 जनवरी को चुनाव और उससे जुड़ी अन्य तिथियों का ऐलान किया था। इस दौरान प्रेस वार्ता में ही मुख्य चुनाव आयुक्त डॉक्टर नसीम जैदी ने कहा था कि आचार संहिता लागू हो गई है। बता दें कि पंजाब, गोवा और उत्तराखण्ड में जहं एक चरण में चुनाव संपन्न कराए जाएंगे वहीं मणिपुर में 2 और उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव होंगे। इन सभी राज्यों की मतगणना 11 मार्च को की जाएगी। ये भी पढ़ें: चुनाव आयोग का अहम आदेश, साइकिल पर 13 को आखिरी फैसला

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
EC warns parties of 'stern action' for violating model code
Please Wait while comments are loading...