पीएम नरेंद्र मोदी ने दी वॉर्निंग, सेना पर उंगली उठाना बंद करें

शुक्रवार को सेना के रवैये पर सवाल खड़े करने वाले नेताओं को पीएम मोदी की चेतावनी। सेना पर उंगली उठाने से पहले सोचें मंत्री और नेता।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। शुक्रवार को भारतीय सेना के साथ एक और विवाद जोड़ दिया गया। पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सेना पर सवाल उठाया और कहा कि सेना तख्‍तापलट की कोशिशों में लगी हुई है। इसके बाद संसद में भी काफी हंगामा हुआ। इन सबके बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक सख्‍त चेतावनी सभी वरिष्‍ठ मंत्रियों को दी है।

pm-modi-warning-indian-army.jpg

दिनभर की बड़ी खबरों का डेली डोज, पढ़िए बस एक क्लिक में

मीटिंग में दी पीएम ने चेतावनी

पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक मीटिंग में वरिष्‍ठ मंत्रियों को हिदायत दी है कि सेना पर उंगली उठाने की गुस्‍ताखी हरगिज न करें।

पीएम मोदी की ओर से यह प्रतिक्रिया उस समय आई जब तृणमूल कांग्रेस और विपक्ष की बाकी पार्टियों ने पश्चिम बंगाल में सेना की मौजूदगी पर सवाल उठाया था।

पढ़ें-सीएम ममता बनर्जी के आरोपों को सेना ने कहा बकवास

सेना पर सवाल उठाना बंद करें

इसकी वजह से संसद में भी काफी हंगामा और संसद को स्‍थगित तक करना पड़ गया। पीएम मोदी ने साफ-साफ कह दिया है कि भारतीय सेना पर सवाल उठाना गलत है।

कहीं न कहीं पीएम मोदी, ममता बनर्जी को भी चेतावनी दे रहे थे। इस बीच सेना की ओर से भी ममता और विपक्ष के दावों को भी पूरी तरह से गलत करार दिया गया।

पढ़ें-ममता बनर्जी को जवाब देने के लिए सेना ने जारी किए डॉक्‍यूमेंट्स

सेना ने भी ममता को दिया जवाब

सेना की ओर से ममता के हर सवाल का जवाब दिया गया और बताया कि सेना की मौजूदगी टोल नाकों पर क्‍यों थी। सेना ने ममता को बताया कि यह सिर्फ एक रुटीन एक्‍सरसाइज का हिस्‍सा था जिसे सेना ने ऑपरेशनल मकसद से अंजाम दिया था। ईस्‍टर्न कमांड के मेजर जनरल सुनील यादव ने एक प्रेस कांफ्रेंस कर ममता को सारे जवाब दिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Prime Minister Narendra Modi said that none should question or raise their fingers against the Indian army.
Please Wait while comments are loading...