ये रहे डिटेल्‍स जो साबित करते हैं उरी आतंकी हमले में पाक की साजिश

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। भले ही पाकिस्‍तान इस बात से इंकार करता रहे कि उरी के आर्मी बेस पर रविवार को हुए आतंकी हमले में उसका कोई हाथ नहीं हैं, भारत के पास ऐसे एक नहीं कई सुबूत हैं जो पाक को बेनकाब करते हैं। ये सुबूत साबित करते हैं कि उरी आतंकी हमले की साजिश पाक में ही रची गई थी।

uri-terror-attack-pakistan-evidences.jpg

पढ़ें-वर्ष 2016 में इंडियन आर्मी ने गंवाए अपने सबसे ज्‍यादा जवान

जीपीएस सबसे अहम

जांच एजेंसियों के पास वह जीपीएस डाटा है जो आतंकियों के पास मिला है। अब इस जीपीएस के डाटा का विश्‍लेषण कर उस रास्‍ते की सारी जानकारियां हासिल की जाएंगी। इस रास्‍ते से होते हुए आतंकी आर्मी बेस तक पहुंचे।

शुरुआती जांच में यह बात साबित हो चुकी है कि आतंकी हाजी पीर पास का रास्‍ता लेते हुए उरी तक पहुंचे। जीपीएस में गलवामा और राफियाबाद की लोकेशन फीड है। ये दोनों ही जगह एलओसी से करीब छह किमी की दूरी पर हैं।

पढ़ें-पाक ने रद्द की रेंजर्स की छुट्टी, बॉर्डर पर सैनिकों की संख्या बढ़ाई

जीपीएस ने की उरी तक पहुंचने में मदद

आतंकियों ने ग्रामीण इट्रेक्‍स जीपीएस सेट का प्रयोग किया जिसने उन्‍हें उरी तक आने के लिए गाइड किया। इस डाटा को नेशनल टेक्निकल रिसर्च ऑर्गनाइजेशन को दे दिया गया है।

जांच में यह बात भी सामने आई है कि आतंकी पहले एलओसी से सटे छोटे गांव सुखधार में दाखिल हुए जिसकी आबादी करीब 500 है। जांचकर्ता मानते हैं कि इस इलाके में बोझा ढोने का काम करने वाले मजदूरों ने आतंकियों की मदद की।

पढ़ें-एक शहीद के मां-बाप, भाई और दोस्त की मार्मिक दास्तां

दवाईयां मेड इन पाकिस्‍तान

आतंकियों के पास एक किट भी मिली है और यह बिल्‍कुल वैसी है जैसी पठानकोट आतंकी हमले में एक आतंकी के पास से मिली थी। इंस्‍टेंट फूड, सिरींज और पेन किलर्स पर पाकिस्‍तान की कंपनियों के मार्क मिले हैं।

आतंकियों के पास से हाई प्रोटीन चॉकलेट्स के 26 रैपर्स, रेड बुल एनर्जी ड्रिंक की छह कैन्‍स और ओआरएस के तीन खाली पैकेट और दूसरी दवाईंया मिली हैं जिन पर मेड इन पाकिस्‍तान लिखा है।

जांचकर्ताओं का मानना है कि आतंकियों को जैश-ए-मोहम्‍मद के पाक स्थित बहावलपुर हेडक्‍वार्टर में ट्रेनिंग दी गई थी।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Even as Pakistan continues to deny that the Uri attackers had come in from their soil, India has managed to collect a great deal of information that suggests otherwise.
Please Wait while comments are loading...