नोट बंदी का असर: 25.58 करोड़ जन धन खातों में 64,252.15 करोड़ रुपए हुए जमा

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। नोट बंदी के बाद जन धन खातों में अब तक 64,252.15 करोड़ रुपए जमा किए जा चुके हैं। इसमें सबसे ज्यादा धनराशि 10,670.62 करोड़ रुपए उत्तर प्रदेश में जमा हुए हैं।

वहीं यूपी के बाद पश्चिम बंगाल और राजस्थान का नंबर है। यह जानकारी सरकार ने शुक्रवार को दी।

सरकार ने इस बात पर भी जोर दिया कि सार्वजनिक क्षेत्र के किसी बैंक ने अपने अधिकारियों को जन धन खातों को जीरो बैलेन्स से बचाने के लिए 1 या दो रुपए जमा करने के लिए नहीं कहा।

नोटबंदी का असर: बैंक-ATM की कतार में खड़े लोगों को मुफ्त खिला रहे हैं पिज्जा-सैंडविच

note

लोकसभा में दी जानकारी

केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री संतोष गंगवार ने कहा शुक्रवार कहा कि नवंबर 16 तक, पूरे देश में प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत खोले गए 25.58 करोड़ बैंक खातों में 64,252.15 करोड़ रुपए जमा कराए गए।

इन 21 जगहों पर आप 500 रुपए के नोट का कर सकते हैं इस्तेमाल

गंगवार ने यह बातें लोकसभा में लिखित जवाब देते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के 3.79 करोड़ खातों में से 10,670 .62 करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं।

इसके बाद पश्चिम बंगाल के 2.44 करोड़ जन धन खातों में 7,826.4 करोड़ रुपए और राजस्थान के 1.89 करोड़ खातों में 5,345.57 करोड़ रुपए जमा कराए गए।

इन तीन राज्यों के बाद बिहार का नंबर आता है जहां के 2.62 करोड़ जन धन खातों में 4,912.79 रुपए जमा कराए गए।

इतने खाते हैं जीरो बैलेन्स एकाउंट के

गंगवार ने कहा कि कुल 25.58 करोड़ जन धन खातों में से , 5.98 करोड़ खातों (23.02 प्रतिशत) जीरो बैलेन्स एकाउंट हैं।

नोटबंदी के फैसले पर वनइंडिया का सबसे बड़ा सर्वे, क्या रहा जनता का जवाब...

एक अन्य सवाल के जवाब में केंद्रीय वित राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि 11 नवंबर तक देश में 17.87 लाख रुपए सर्कुलेशन में थे।

भारतीय रिजर्व बैंक के प्रेस 2015-16 के दौरान 2,119.5 करोड़ बैंक नोट छाप चुके हैं। जबकि पिछले वित्तीय वर्ष में 2,365.2 करोड़ बैंक नोट छापे गए थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Currency Ban: Deposits in Jan Dhan accounts rise to Rs 64,250 crore.
Please Wait while comments are loading...