लंबे वक्त तक बिना वजह के शारीरिक संबंध से इनकार, करा सकता है तलाक

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अगर लंबे वक्त से बिना किसी ठोस वजह के पति-पत्नी के बीच में शारीरिक संबंध ना बनें तो ये तलाक की वजह हो सकती है। एक केस की सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट मे कहा कि जीवन साथी द्वारा बगैर पर्याप्त कारण के यौन संबंध बनाने से लंबे समय तक इनकार मानसिक यातना के बराबर है और यह तलाक का आधार हो सकता है।

'रोका' प्रथा नहीं बल्कि सामाजिक बुराई, होता है गुलामों सा बर्ताव:दिल्‍ली हाईकोर्ट

 Denying physical relationship to spouse is a ground for divorce: Delhi HC

न्यायमूर्ति प्रदीप नंदराजग और प्रतिभा रानी ने की खंडपीड ने एक तलाक के मामले में सुनवाई करते हुए ये बात कही, इस केस में एक पति को अपनी पत्नी से कोई शारीरिक सुख नहीं मिला जबकि दोनों की शादी को 9 साल हो चुके थे।

पत्नी ने पति के ऊपर मार-पीट और शराब पीने का आरोप लगाया

उल्टा पत्नी ने पति के ऊपर मार-पीट और शराब पीने का आरोप लगाया था। कोर्ट ने कहा कि ये सभी कार्य व्यक्तिगत रूप से और कुल मिलाकर पति के साथ निर्दयता से पेश आने के बराबर है, इसलिए इस शादी को रद्द कर देना चाहिए क्योंकि ये शादी तो हुई ही नहीं।

तलाक, तलाक, तलाक पर मुस्लिम बोर्ड ने कहा- इससे कत्ल नहीं होते

आपको बता दें कि तलाक के इस केस में 46 वर्षीय पति ने बताया कि वर्ष 2007 के नवंबर में उसकी शादी हुई थी। शादी केे बाद पत्नी ने मेडिकल समस्या बताकर शारीरिक संबंध बनाने से इनकार कर दिया था, उसने उसकी बात मान ली थी क्योंकि उसे लगा कि उसकी बीवी झूठ क्यों बोलेगी?

हनीमून पर दी थी धमकी

लेकिन जब शादी के दो महीने बाद  वो दोनों हनीमून के लिए शिमला गए वहां भी पत्नी ने कहा कि अगर वो उसे छूने की कोशिश करेगा तो वह बालकनी से नीचे कूद कर जान दे देगी। इसके बाद दोनों दिल्ली लौट आए थे।

देश की हर महिला को जानना चाहिए ये कानून

फिर भी उसने अपनी शादी को बचाने के लिए अपनी बीवी को वक्त देने की कोशिश की लेकिन इसके बाद उसकी पत्नी ने दूसरा ही रूप अख्तियार कर लिया और उस पर मार-पीट और दहेज प्रताड़ना का आरोप लगा दिया जिसके कारण उसकी नौकरी भी चली गई फिलहाल शनिवार को उसे अपनी पत्नी से तलाक मिल गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Denying physical relationship to the spouse for a long time amounts to mental cruelty and is a ground for divorce, the Delhi High Court reiterated on Friday, while hearing a divorce petition.
Please Wait while comments are loading...