नोटबंदी: ग्राहकों से मनमाने दाम वसूल रहे दुकानदार, महंगा बेच रहे हैं आटा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। 8 नवंबर, 2016 को पीएम नरेंद्र मोदी ने 500-1000 के पुराने नोट बंद करने का फैसला क्‍या किया। पूरे देश में लोग अपने हिसाब से ही सामान बेचने में लगे हुए हैं। यह स्थिति अलग-अलग शहरों, कस्‍बों और गांवों में ऐसी ही है।

शादी के लिए 2.50 लाख रुपए निकालने के कठिन नियम बनाकर फंसी सरकार

wheat

दिल्‍ली-एनसीआर में आम लोगों की जरूरत का सामान दुकानदार अब लोगों को महंगे दाम पर बेच रहे हैं। इससे सबसे ज्‍यादा आम आदमी की रोटी प्रभ‍ावित हुई है। दुकानदारों ने मनमाफिक तरीके से आटे की कीमतों में प्रति पांच किलो 20 रुपए और प्रति दस किलो 35 रुपए तक की कर दी है।

लोगों ने अपनी तकलीफ वन इंडिया को बताते हुए कहा कि पहले पांच किलो आटा 150 रुपए में मिल जाता था। यह आटा ब्रांडेंड कंपनियों का होता था। पर अब फुटकर दुकानदारों ने अब इसी आटे को 170 रुपए प्रति पांच किलो कर दिया है। वहीं 10 किलो आटे की कीमत को बढ़ाकर 265 रुपए से बढ़ाकर 300-320 रुपए कर दिया है।

नोटबंदी: शादी के लिए 2.50 लाख रुपए निकालने हैं तो ये शर्ते करनी पड़ेगी पूरी

वहीं एक थोक कारोबारी रतन गुप्‍ता ने वन इंडिया हिंदी को बताया कि थोक बाजार में आटे की कीमतों में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। उनके पास भी ऐसे कई लोग आए है तो महंगे आटे को लेकर शिकायत कर चुके हैं। पर हम महंगा आटा नहीं बचे रहे हैं।

वन इंडिया हिंदी से शिकायत करने पर लोगों ने बताया कि अचानक ही लोगों ने महंगे दाम पर आटा बेचना शुरु कर दिया है जोकि बिल्‍कुल भी ठीक नहीं है। दिल्‍ली, नोएडा और गाजियाबाद से ऐसी शिकायतें लगातार आ रही हैं।

आपको बताते चलें कि नोटबंदी के दिन ही दुकानदारों ने एक तरफ सोना महंगे दाम पर बेचा था तो दूसरी तरफ नमक को लेकर अफवाह फैली और लोगों 400 रुपए प्रति किलो तक नमक बेचा गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
how demonetisation impact on local market, shopkeepers sell wheat on higher prices
Please Wait while comments are loading...