कानपुर ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या 121 हुई

Subscribe to Oneindia Hindi

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर के नजदीक पुखरायां में हुए ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या 121 हो चुकी है। इस बात की पुष्टि कानपुर के डीएम रवि कान्त सिंह ने की है। इस घटना में 200 से भी अधिक लोग घायल बताए जा रहे हैं। रविवार को सुबह-सुबह इंदौरा-पटना एक्स्प्रेस अचानक पटरी से उतर गई थी, जिसके चलते ये खतरनाक ट्रेन हादसा हुआ है।

train accident

अस्पताल ने नहीं लिया 500 का नोट, बेटे के शव के साथ घंटों अस्पताल की गेट पर बैठे रहे बूढ़े माँ-बाप

यह हादसा कितना वीभत्स था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दुर्घटना में मारे गए बहुत से लोगों के शव ऐसी अवस्था में हैं कि उनकी शिनाख्त भी नहीं की जा पा रही है। बचाव कार्य में जुटी एनडीआरएफ के प्रवक्ता कृष्ण कुमार ने बताया कि मारे गए लोगों के शव क्षत-विक्षत हो गए हैं, जिनकी पहचान कर पाना भी मुमकिन नहीं है।

जिस समय यह हादसा हुआ उस समय लोग सो रहे थे, जिसकी वजह से लोगों को संभलने का भी मौका नहीं मिला। हादसे के वक्त ट्रेन की स्पीड 100 किलोमीटर प्रति घंटा बताई जा रही है।

इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा: घटनास्थल पहुंचें रेलमंत्री घायलों को इलाज और बचाव कार्य प्राथमिकता

मृतकों को मिलेगा 12.5 लाख का मुआवजा

अभी तक मृतकों के परिवार को 12.5 लाख रुपए का मुआवजा दिए जाने की घोषणा की गई है। इसमें 3.5 लाख रुपए रेलवे, 5 लाख रुपए उत्तर प्रदेश सरकार, 2 लाख रुपए मध्य प्रदेश सरकार और 2 लाख रुपए प्रधानमंत्री राहत कोष से दिए जाएंगे।

इसके अलावा, हादसे में गंभीर रूप से घायल लोगों को 50-50 हजार रुपए का मुआवजा और हल्की चोट वालों को 25-25 हजार रुपए का मुआवजा रेलवे की तरफ से दिया जाएगा। साथ ही गंभीर रूप से घायल लोगों को पीएम राहतकोष से भी 50-50 हजार रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

पटना-इंदौर एक्सप्रेस हादसे की शिकार लेकिन रेलवे के रनिंग स्टेटस में 9 मिनट लेट

उच्च स्तरीय जांच के आदेश

घटना के बाद सुबह से ही लगातार राहत और बचाव कार्य जारी है। वहीं इस घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं और कहा गया है कि जो भी दोषी है उसे बख्शा नहीं जाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
death toll in indore patna express rises to 121
Please Wait while comments are loading...