चैताली ने बयां की उस खौफनाक रात की कहानी, जब लड़कियों को दौड़ा-दौड़ाकर छेड़ा गया

चैताली फोटोग्राफर हैं। चैताली ने फेसबुक पर उस रात का अनुभव शेयर किया है। उनका यह स्‍टेट्स अब वायरल हो गया है। हालांकि इस स्‍टेट्स में बहुत गालियां हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश के हाईटेक सिटी में शूमार होने वाले बेंगलुरू में नए साल की शाम को जो अमानवीयता का नंगा नाच खेला गया। उसने आमतौर पर महिलाओं के लिए अनसेफ कही जाने वाली दिल्‍ली को भी बहुत पीछे छोड़ दिया। नए साल के जश्न के नाम में आधी रात को सड़कों पर उतरे हज़ारों हुड़दंगियों ने महिलाओं के साथ छेड़खानी की। साफ शब्‍दों में कहें तो वह रात जश्‍न की नहीं बल्‍कि हैवानियत की थी। एमजी रोड, ब्रिगेड रोड और चर्च स्ट्रीट पर शोहदों ने महिलाओं से शारीरिक छेड़खानी की।

चैताली ने बयां की उस खौफनाक रात की कहानी, जब लड़कियों को दौड़ा-दौड़कर छेड़ा गया
 VIDEO: अश्लील ठुमकों के साथ लेडी MLA के सामने नए साल का जश्न  

इस भयावह रात की गवाह रही एक महिला ने बताया कि आधी रात में सड़क पर एकाएक भगदड़ का माहौल बन गया। लड़कियां इधर-उधर भागते हुए मदद के लिए चिल्ला रही थीं और रो रही थीं। पुलिस लाचार देखती रही। हैप्‍पी न्‍यू ईयर की जगह चारों तरफ हेल्‍प मी प्‍लीज, हेल्‍प मी प्‍लीज गूंज रही थी। इस शर्मनाक घटना के बाद अब कई महिलाएं सामने आई हैं और उस खौफनाक रात का जिक्र किया है।

ये हैं चैताली, जिनसे नए साल के जश्‍न वाली रात हुई थी छेड़छाड
'सेक्‍स पार्टी': नए साल का ऐसा जश्‍न जिसमें खो जाती है लड़कियों की वर्जिनिटी  

उनमें से एक हैं चैताली वासनिक। चैताली फोटोग्राफर हैं। चैताली ने फेसबुक पर उस रात का अनुभव शेयर किया है। उनका यह स्‍टेट्स अब वायरल हो गया है। हालांकि इस स्‍टेट्स में बहुत गालियां हैं। इतना ही नहीं इसमें दक्षिण बनाम उत्तर भारतीयों के पूर्वाग्रह भी हैं। चैताली ने लिखा है कि 31 दिसंबर की शाम को वो काम से घर वापस लौट रहीं थीं। उस दौरान शराब के नशे में चूर कुछ लोगों ने उनके साथ छेड़छाड़ की कोशिश की। चैताली ने इसका माकूल जवाब दिया बहुत सी लड़कियां चैताली जैसा नहीं कर पाईं।

चैताली वासनिक
 

चैताली ने उन छेड़खानी करने वाले युवकों को जमकर मारा। और तबतक मारती रहीं जबतक वो वहां से भाग नहीं गए। चैताली ने कहा कि वहां मौजूद करीब 10 से 15 लोग ये सब मूक दर्शक बन देख रहे थे। किसी ने छेड़खानी करने वाले युवक को कुछ नहीं कहा। इसके विपरीत वहां पर मौजूद लोगों ने चैताली को ही ऐसा न करने से रोका। पढि़ए चैताली वासनिक का फेसबुक पोस्‍ट जो हो रहा है वायरल-

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
On New Year's Eve, Bengaluru proved it is no better than Delhi, or any other city when it comes to safety of women.
Please Wait while comments are loading...