बैंकों के 500 करोड़ से ज्यादा लेकर दबाए बैठे लोगों के नाम बताए सरकार: कांग्रेस

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सरकार द्वारा नोट बैन को कालेधन पर कड़ा प्रहार बताने के बाद कांग्रेस ने कहा है कि सरकार इस तरह बेवकूफ बताने की जगह उन डिफॉल्टरों के नाम बताए जो बैंक का बड़ा पैसा दबाए बैठे हैं।

note

पीएम मोदी के 500 और 1000 के नोट बैन करने और इसे कालेधन पर रोक के लिए जरूरी बताने के बाद विपक्षी पार्टियां सरकार पर हमलावर हो गई हैं। कांग्रेस सरकार से कहा है कि अगर मोदी कालेधन को लेकर गंभीर हैं तो कुछ कड़े कदम उठाएं।

500-1000 नोट पर बैन: बीजेपी की पोल खोलने वाला वीडियो हुआ वायरल

कांग्रेस ने सरकार से उन लोगों के नामों की सूची उजागर करने की मांग की है, जिन पर बैंकों का 500 से ज्यादा का कर्ज है और वो उसे लौटा नहीं रहे हैं।

सुप्रीम कोर्ट भी डिफॉल्टरों पर है सख्त

आपको बता दें कि बैंकों का कर्ज लेकर नहीं लौटाने वाले केवल 57 व्यक्तियों पर ही 85,000 करोड़ रुपये का बकाया है। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट कई दफा रिजर्व बैंक को खरी-खोटी भी सुना चुका है।

कुछ समय पहले सुप्रीम कोर्ट ने 500 करोड़ रुपये से अधिक कर्ज लेने वाले और उसे नहीं लौटाने वालों के बारे में रिजर्व बैंक से रिपोर्ट मांगी थी। इसमें 57 व्यक्तियों के नाम आरबीआई ने बताए हैं।

4000 रुपये बदलने बैंक पहुंचे राहुल गांधी, बोले गरीब के साथ खड़ा हूं

बैंक के पैसे दबाए इन लोगों के नामों की सूची पर चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने कहा था कि आखिर कर्ज लेकर उसे नहीं लौटाने वाले व्यक्तियों के नाम लोगों को क्यों नहीं पता चलने चाहिए इन नामों को जगजाहिर क्यों नहीं करना चाहिए?

केरल: 5 लाख रुपये जमा करने आया शख्स बैंक से नीचे गिरा, मौत

रिजर्व बैंक के वकील ने नामों को जाहिर नहीं करने की बात कोर्ट से कही थी। आरबीआई के वकील के अनुसार कर्ज नहीं लौटा पाने वाले सभी कर्जदार जानबूझकर ऐसा नहीं कर रहे हैं। ऐसे में नाम जहिर करना ठीक नहीं होगा।

गुस्साई जनता ने अगर सरकार पर ही सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया तो: उद्धव ठाकरे

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Congress says govt should come out with list of top loan defaulters
Please Wait while comments are loading...