दुनियाभर में इन क्षेत्रों में हैं नौकरी के भरपूर अवसर, नहीं मिल रहे लोग

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। दुनिया की अर्थव्यवस्था के विकास की गति भले धीमी हो लेकिन ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां नौकरी के भरपूर अवसर हैं और कंपनियों को योग्य उम्मीदवार ही नहीं मिल रहे।

नौकरी के लिए स्टाफिंग सॉल्यूसंश देनेवाली कंपनी मैनपावरग्रुप के सर्वे से पता चला है कि दुनियाभर की 40 प्रतिशत कंपनियों को पदों को भरने के लिए स्किल्ड लोग नहीं मिल रहे हैं।

Read Also: लोकसभा सचिवालय में नौकरी का मौका, 34 हजार रुपए तक सैलरी

job

सर्वे में क्या-क्या निकला?

मैनपावरग्रुप के इस वार्षिक सर्वे में 43 देशों के 43,200 एंप्लवायर्स कंपनियों ने हिस्सा लिया। इस सर्वे में यह निकलकर आया है कि इस साल भी कई पदों के लिए सही उम्मीदवारों की भारी कमी रही।

खासतौर पर आईटी सेक्टर में ऐसे कामगारों की कमी ज्यादा हुई है। कामगारों की कमी से जूझ रहे सेक्टर्स में आईटी, पिछले साल सातवें नंबर पर था लेकिन इस साल यह दूसरे नंबर पर पहुंच गया है।

इन सेक्टर्स में टैलेंट्स की पड़ रही है कमी:

1. स्किल्ड ट्रेड्स - इलेक्ट्रिशियंस, कारपेंटर्स, वेल्डर्स, ब्रिकलेयर्स, प्लास्टरर्स, प्लंबर्स, मैसन आदि।

2. आईटी स्टाफ - डेवलपर्स, प्रोग्रामर्स, डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर्स, आईटी लीडर्स, मैनेजर्स

3. सेल्स रिप्रजेंटेटिव - सेल्स एक्जेक्यूटिव्स, सेल्स एडवाइजर्स और रिटेल सेल्स मैन

4. इंजीनियर्स - मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और सिविल इंजीनियर्स

5. टेक्निशियंस - प्रोडक्शन, ऑपरेशन और मैनटेनेंस टेक्निशियंस

6. ड्राइवर्स - ट्रक, लॉरी, हेवी गुड्स, डेलिवरी, हेवी इक्विपमेंट, कंस्ट्रक्शन ड्राइवर्स

7. अकाउंटिंग एंड फाइनांस स्टाफ - बुककीपर्स, सर्टिफाइड अकाउंटेंट्स और फाइनेंसियल एनालिस्ट

8. मैनेजमेंट, एक्जेक्यूटिव - सीनियर और बोर्ड लेवल मैनेजर्स

9. प्रोडक्शन, मशीन ऑपरेशन्स - ऑपरेटर, स्पेशल मशीनरी

10. ऑफिस सपोर्ट स्टाफ - सेक्रेटरीज, पर्सनल असिस्टेंट, रिसेप्शनिस्ट, एडमिनिस्ट्रेटिव असिस्टेंट्स

इन देशों की कंपनियों को नहीं मिल रहे लोग

सर्वे के अनुसार, दुनियाभर में सबसे ज्यादा जापान की कंपनियों को योग्य कामगारों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। जापान की 86 प्रतिशत, ताइवान की 73 प्रतिशत और रोमानिया की 72 प्रतिशत कंपनियों ने कामगारों की कमी की शिकायत की है।

भारत में भी कई कंपनियों को टैलेंटेड कामगार नहीं मिल पा रहे हैं। सर्वे के मुताबिक भारत की 48 प्रतिशत कंपनियों ने योग्य उम्मीदवार न मिलने की शिकायत की है। भारत में आईटी और अकाउंटिंग व फाइनांस सेक्टर्स में टैलेंटेड लोगों की भारी मांग है।

भारत के टॉप फाइव सेक्टर्स जहां कंपनियों में इन कर्मचारियों की है भारी मांग -

1. आईटी पर्सनल

2. अकाउंटिंग एंड फाइनांस स्टाफ

3. प्रोजक्ट मैनेजर्स

4. सेल्स मैनेजर्स

5. कस्टमर सर्विस रिप्रजेंटेटिव्स एंड कस्टमर सपोर्ट

Read Also: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद, अब अस्‍थायी कर्मचारियों को मिलेगी ज्‍यादा सैलरी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Many companies in the world are facing talent shortage. Indian companies are also facing this challenge especially in IT sector, according to a survey.
Please Wait while comments are loading...