डोकलाम पर फिर बोला चीन, भारतीय सेना बुलडोजर के साथ इलाके में है मौजूद

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। डोकलाम इलाके को लेकर भारत और चीन के बीच लगातार जुबानी जंग जारी है। इस बीच चीन ने एक बार फिर से भारतीय सेना को इस इलाके से पीछे हटने के लिए कहा है। दिल्ली स्थित चीनी दूतावास ने 15 पेज का बयान जारी कर भारत से अपनी सेना हटाने की बात कही है।

चीन ने फिर साधा भारत पर निशाना

चीनी दूतावास की ओर से इस तरह का बयान ऐसे वक्त में आया है जबकि पूरे मामले को लेकर पिछले हफ्ते ही भारतीय एनएसए अजीत डोवाल बीजिंग में अपने समकक्ष यांग जेकी से मिले और इस संबंध में बातचीत भी हुई।

दिल्ली में चीनी दूतावास ने जारी किया बयान

दिल्ली में चीनी दूतावास ने जारी किया बयान

ब्रिटेन और चीन के बीच 18 9 0 के ऐतिहासिक समझौते को आधार बनाकर चीन ने भारत पर आरोप लगाया है कि भारतीय सैनिकों ने सिक्किम क्षेत्र में चीन-भारत सीमा को अवैध रूप से पार किया है। इतना ही नहीं उन्होंने चीनी क्षेत्र में प्रवेश भी किया है। बयान में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि 18 जून को 270 भारतीय सैनिकों को डोका-ला इलाके से पीछे हटाया गया। इन सैनिकों ने चीन को डोका-ला में सड़क बनाने से रोका था।

India China face off: Western Media ने की India की तारीफ़ तो भड़क उठा China । वनइंडिया हिंदी
'40 भारतीय सैनिक और एक बुलडोजर अभी भी इलाके में'

'40 भारतीय सैनिक और एक बुलडोजर अभी भी इलाके में'

चीन की ओर से कहा गया है कि करीब 400 भारतीय सैनिक और तीन टेंट इस इलाके में लगे हुए थे। इस बयान में ये भी दावा किया गया है कि 40 भारतीय सैनिक और एक बुलडोजर अभी भी इलाके में मौजूद हैं, जो चीन की रोड कंस्ट्रक्शन पार्टी को रोक रहे हैं।

1890 में हुए समझौते का किया जिक्र

1890 में हुए समझौते का किया जिक्र

चीन की ओर से जारी किए गए बयान में इलाके का नक्शा और दो तस्वीरें में भी जारी की हैं। साथ ही 1890 में हुए समझौते का भी जिक्र इसमें किया गया है। साथ ही मांग की गई है कि बॉर्डर इलाके में मौजूद भारतीय सैनिकों को तुरंत ही पीछे हटना चाहिए। पूरे मामले पर भारत की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।

भारत के जवाब का इंतजार

भारत के जवाब का इंतजार

हालांकि इस मामले को लेकर 30 जून को विदेश मंत्रालय की ओर से एक बयान आया, उसके बाद भारत की ओर से कोई बयान नहीं दिया गया। हालांकि 20 जुलाई को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जरूर संसद में अपनी बात रखी थी। जिसमें उन्होंने चीन के मुद्दे पर भारत का रुख क्या था, इसकी जानकारी दी थी। उस समय उन्होंने ये साफ किया था कि ट्राइजंक्शन पर चीन बुलडोजर लेकर पहुंच चुका है। साथ ही उन्होंने चीन को सेना हटाने के लिए भी कहा था।

इसे भी पढ़ें:- पाक आर्मी चीफ ने कहा- कश्मीर और एनएसजी के मुद्दे पर चीन के समर्थन का कर्जदार है पाकिस्तान

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China reiterates its case on Doklam, asks Indian soldiers to leave the area
Please Wait while comments are loading...