नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति से बच्चा छीनने का मामला गरमाया, सुषमा स्वराज ने मांगी रिपोर्ट

बीजेपी नेता विजय जौली ने नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति से बच्चा छीने जाने का मामला उठाते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और नॉर्वे में भारतीय दूतावास को पत्र लिखा था।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति से बच्चा छीनने का मामला गरमाता जा रहा है। इस मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने सक्रियता दिखाते हुए नॉर्वे में भारतीय राजदूत से रिपोर्ट मांगी है। भारतीय दूतावास ने भी बच्चे के माता-पिता को हरसंभव सहयोग की बात कही है।

नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति से बच्चा छीनने का मामला गरमाया, सुषमा स्वराज ने मांगी रिपोर्ट

पांच साल के बच्चे को माता-पिता से छीना गया

नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति पर अपने पांच साल के बच्चे को प्रताड़ित करने का आरोप है। उनके खिलाफ नॉर्वे प्रशासन की ओर से शिकायत दर्ज की गई है। साथ ही दंपत्ति से बच्चा छीन लिया गया। हालांकि भारतीय दंपत्ति ने बच्चे को किसी भी तरह की प्रताड़ना से इंकार किया है।

'सर सुषमा जी ने मुझे ब्लॉक कर दिया है, प्लीज अनब्लॉक करा दीजिए'

इस बीच पूरे मामले सुषमा स्वराज ने ट्वीट करके कहा है कि हमने नॉर्वे में भारतीय राजदूत से पूरे मामले की रिपोर्ट मांगी है।

बीजेपी नेता विजय जौली ने नॉर्वे में भारतीय दंपत्ति के मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखा था, साथ ही नॉर्वे में भारतीय राजदूत को पत्र लिखा था। उन्होंने इस मामले को देखने की अपील की थी।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भारतीय दूतावास से मांगी रिपोर्ट

विदेश मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, हमारे ओस्लो स्थित दूतावास के अधिकारियों ने बच्चे के पिता अनिल कुमार शर्मा से संपर्क किया है और उन्हें हरसंभव समर्थन की बात कही है। अनिल कुमार शर्मा ने बताया है कि उन्होंने केस के लिए एक वकील से संपर्क किया है, जो उनका केस देखेंगे।

हॉस्पिटल से भी सुषमा स्वराज ने की ट्विटर के जरिए महिला की बड़ी मदद

नॉर्वे दूतावास की ओर से बताया गया कि वो पूरे मामले को देख रहे हैं। उन्होंने नॉर्वे से जुड़ी हुई अथॉरिटी से बात की है और पूरे मामले की जानकारी मांगी है। फिलहाल नॉर्वे प्रशासन की ओर से जवाब का इंतजार है।

बता दें कि नॉर्वे में रह रहे एक भारतीय मूल के दंपत्ति से वहां के प्रशासन ने उनके पांच साल के बेटे को अलग कर दिया है।

बीजेपी नेता विजय जौली ने पत्र लिख कर उठाया था मामला

मूल रूप से भारत के रहने वाले अनिल कुमार शर्मा नॉर्वे में एक रेस्‍त्रां चलाते हैं। अनिल ने बताया कि 13 दिसंबर को उनके पांच साल के बच्‍चे को नॉर्वे के चाइल्‍ड वेलफेयर एसोसिएशन डिपार्टमेंट ने स्‍कूल से ही अपनी कस्‍टडी में ले लिया।

ट्विटर पर एक्टिव रहने वाली सुषमा को ग्लोबल थिंकर्स लिस्ट में मिली जगह

अनिल कुमार शर्मा ने बताया उसी दिन नॉर्वे पुलिस के अधिकारी उनके घर आए और उनकी पत्‍नी गुरविंदर कौर को भी हिरासत में ले लिया। पुलिस ने उनकी पत्‍नी से लगभग 3 घंटे तक पूछताछ की।

अनिल कुमार शर्मा ने बताया कि पूछताछ के बाद बच्चे को नॉर्वे के चिल्ड्रेन वेलफेयर होम में ले जाया गया है। यह ओस्लो शहर से 150 किलोमीटर दूर है। जब डिपार्टमेंट से ऐसा करने का कारण पूछा गया तो उन्होंने दंपत्ति पर बच्‍चे को पीटने का आरोप लगाया। हालांकि दंपत्ति ने इन आरोपों से इंकार किया है।

इसके बाद अनिल कुमार शर्मा घटना को लेकर दिल्ली के बीजेपी नेताओं से बातचीत कर मदद की गुहार लगाई थी। जिसमें बीजेपी नेता विजय जौली ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और नॉर्वे दूतावास में अधिकारियों से पत्र लिखकर मामले को देखने की अपील की थी।

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
5 year Child Taken From Indian Couple In Norway, Sushma Swaraj Seeks Report.
Please Wait while comments are loading...