CBSE की बोर्ड परीक्षा में अब इन छात्रों को मिलेगा लंच ब्रेक

CBSE जल्द ही इस विषय पर सर्कुलर जारी करने वाला है कि डायबिटीज से पीड़ित परीक्षार्थिों को परीक्षा के दौरान लंच ब्रेक दिया जाएगा।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्लीकेंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने कहा है कि दसवीं और बारहवीं बोर्ड की परीक्षा के दौरान अब परीक्षार्थियों को लंच ब्रेक का समय दिया जाएगा। हालांकि यह लंच ब्रेक सबके लिए नहीं होगा। प्राप्त जानकारी के अनुसार CBSE की ओर से जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि वो परीक्षार्थी जिन्हें टाइप 1 डायबिटीज की शिकायत है, उन्हें परीक्षा के बीच में खाने के लिए लंच ब्रेक मिलेगा।  

CBSE की बोर्ड परीक्षा में अब इन छात्रों को मिलेगा लंच ब्रेक

ये है कारण

बता दें कि टाइप 1 डायबिटिक मरीज, शुगर लेवल बैलेंस करने के लिए दो से चार घंटे के लिए इंसूलिन पर निर्भर होते हैं। उन्हें सलाह दी जाती है कि कुछ खाने पीने के बीच ज्यादा लंबे समय का अंतराल ना हो। शुगर का लेवल कम होने पर सर दर्द और चिड़चिड़ापन, बेचैनी और भ्रम की स्थिति पैदा हो सकती है।

CBSE जल्द ही इस बात की सूचना जारी कर देगा कि डायबिटिक छात्र परीक्षा के दौरान 1 घंटे या 90 मिनट की अवधि के बाद कुछ खा सकते हैं। CBSE, अन्य स्कूलों के प्रधानाचार्यों को भी सलाह दे सकता है कि वो अपने स्कूलों में भी यह प्रक्रिया शुरू करें, जैसा कि अमेरिकी स्कूलों में होता है।

CBSE अध्यक्ष, आर के चतुर्वेदी ने कहा कि हम इस पर काम कर रहे हैं। इस संबंध में विस्तृत सर्कुलर अगले हफ्ते में जारी कर सकते हैं। CBSE की ओर से इस मसले पर दिल्ली डायबिटिक्स रिसर्च सेंटर के अध्यक्ष डॉक्टर अशोक के प्रयास के बाद ध्यान दिया। डॉ. अशोक के मुताबिक जो छात्र इस रोग से पीड़ित हैं वो सुबह करीब साढ़े 8 बजे तक इंसुलिन लेता है। परीक्षा 10 बजे से शुरू होती है और 11 बजे से छात्र का शुगर लेवल डाउन होना शुरू हो जाता है।

ये भी पढ़े: सीबीएसई का राहत भरा फैसला, 2017 को माना जाएगा पहला अटेम्प्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
CBSE will Allow Students who are affected from Type -1 Diabetics To Take Snack Break during board exams
Please Wait while comments are loading...