नोटबंदी पर मोबाइल ऐप के जरिए क्‍या असल भारत की राय मिलेगी पीएम मोदी को?

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश में 8 नवंबर को विमुद्रीकरण को लेकर लिए फैसले के बाद सरकार जहां इसे 70 सालों में लिया गया सबसे ऐतिहासिक फैसला बता रही है। वहीं विपक्ष पीएम मोदी की इस योजना को लागू करने की तरीके पर सवाल उठा रहाा हैं। नोटबंदी के दौरान बैंकों में पैसा निकालने, जमा करने, पैसा न मिल पाने, इलाज न हो पाने, भगदड़ मचने से 70 लोगों की मौत हो चुकी है।

Narendra Modi App

 

नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप के जरिए मांगी राय

नोटबंदी को लेकर केंद्र सरकार भी लगभग रोज नए-नए नियम बनाकर जनता को राहत देने की कोशिश कर रही है। मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट का ज्‍यादा यूज करने वाले जहां इस फैसले से खुश हैं तो वहीं नगद में लेन-देन करने वाले लोग इस फैसले पर नाराजगी भी जता रहे हैं। बाजारों में भी फुटकर दुकानदार लोगों से ज्‍यादा से ज्‍यादा पैसा वसूल करने की कोशिश में लगे हुए हैं। आटा महंगे दामों पर बेचा जाना शुरु किया जा चुका है।

अब नोटबंदी के 14 दिन बाद पीएम मोदी ने नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप के जरिए इस फैसले पर लोगों से राय मांगी है। इन सवालों के जवाब नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप को डाउनलोड करके दिया जा सकता है। पीएम मोदी ने लोगों से मोबाइल ऐप के जरिए दस सवालों के जवाब देने के लिए कहा है।

मोबाइल पर इंटरनेट यूज करने वालों की संख्‍या 37 करोड़

पर सवाल उठता है कि 130 करोड़ की जनसंख्‍या वाले भारत की राय और नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप पर मिलने वाली राय एक होगी। क्‍योंकि पूरे देश में मोबाइल पर इंटरनेट यूज करने वालों की संख्‍या कुल 37 करोड़ हैं। यह आंकड़ा जून, 2016 तक का है। वहीं शहरों में मोबाइल पर इंटरनेट यूज करने वालों की संख्‍या 26 करोड़ और ग्रामीण इलाकों में मोबाइल पर इंटरनेट यूज करने वालों की संख्‍या 10.9 करोड़ के आसपास हैं। पर इन सभी के पास स्‍मार्टफोन नहीं है। नरेंद्र मोदी का ऐप डाउनलोड करने के लिए स्‍मार्टफोन जरूरत होगी। सभी मोबाइल इंटरनेट यूज करने वाले भी इस फैसले का पर हामी भर देते हैं, तब भी यह राय असल भारत की नहीं होगी।

स्‍मार्टफोन यूज करने वालों की संख्‍या पहुंच सकती है 29 करोड़

वहीं उम्‍मीद जताई जा रही है कि वर्ष 2017 तक कुल स्‍मार्टफोन प्रयोग करने वालों की संख्‍या 34 करोड़ तक पहुंच सकती है। वर्ष 2016 में यह संख्‍या 29 करोड़ के स्‍तर पर पहुंच पाएगी।

वहीं पीएम नरेंद्र मोदी को ट्वीटर पर फॉलो करने वालों की संख्‍या मात्र 2.48 करोड़ हैं। वहीं फेसबुक नरेंद्र मोदी पेज पर 37,489,102 लाइक्‍स हैं। जबकि इस देश की आबादी तकरीबन 130 करोड़ है।

ऐसे में सवाल उठना लाजिमी है कि क्‍या नरेंद्र मोदी ऐप के जरिए पीएम मोदी को मिलने वाली राय पूरे देश की राय होगी। अगर नरेंद्र मोदी को ट्वीटर पर फॉलो करने वाले हर व्‍यक्ति ने अपने मोबाइल में नरेंद्र मोदी मोबाइल ऐप डाउनलोड कर रखा है और वो उस पर राय देता है तो तब भी सिर्फ देश की 2 फीसदी जनता ही इस पर राय दे पाएगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
can whole india give feedback through narendra modi app about demonetisation
Please Wait while comments are loading...