#Budget2017 को राहुल गांधी ने बताया शेरो-शायरी का बजट, कहा- किसानों को कुछ नहीं मिला

राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले चंदे के नियमों में बदलाव पर राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी किसी भी फैसले में सरकार का साथ देंगे जो पॉलिटिकल फंडिंग में सुधार और पारदर्शिता लाएगी।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आम बजट को शेरो-शायरी का बजट बताते हुए कहा है कि किसानों के लिए कुछ नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि युवाओं के लिए भी बजट में सरकार ने कोई खास काम नहीं किया है। बजट में सरकार से बड़े ऐलानों की उम्मीद थी।

#Budget2017 को राहुल गांधी ने बताया शेरो-शायरी का बजट, कहा- किसानों को कुछ नहीं मिला

'पॉलिटिकल फंडिंग पर पारदर्शिता के लिए सरकार का साथ'
राहुल गांधी ने कहा, 'हम बजट में कुछ बेहतर घोषणाओं की उम्मीद लगाकर बैठे थे, लेकिन कुछ नहीं मिला। बजट किसानों और युवाओं के खिलाफ है। सरकार ने किसानों के लिए बजट में कुछ नहीं किया और न ही युवाओं के लिए कोई ऐसी स्कीम की घोषणा की जिससे उन्हें फायदा हो।' राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले चंदे के नियमों में बदलाव पर राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी किसी भी फैसले में सरकार का साथ देंगे जो पॉलिटिकल फंडिंग में सुधार और पारदर्शिता लाएगी। READ ALSO: आम आदमी को टैक्स में आधी छूट, 2.5 से पांच लाख इनकम पर देना होगा सिर्फ 5 फीसदी टैक्स

मनीष तिवारी ने बताया शब्दों का जाल
वहीं, कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी ने कहा कि यह बजट सिर्फ शब्दों का जाल है। उन्होंने कहा, 'बजट में युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए कुछ खास ऐलान नहीं किया गया और न ही रेलवे को उतना महत्व दिया गया।' कांग्रेस नेता ने कहा कि इस बजट से योजनाओं को बढ़ावा देने में सरकारी खर्च बढ़ेगा। READ ALSO: विजय माल्या जैसे अपराधियों के खिलाफ एक्शन को लेकर नया कानून

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Budget 2017 we were expecting fireworks instead got a damp squib says Rahul Gandhi.
Please Wait while comments are loading...