भाजपा में शामिल होने की वजह से मुसलमानों को मस्जिद में जाने से रोका

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चा के अध्यक्ष मोहम्मद जसीमुद्दीन ने आरोप लगाया है कि जबकि उन्होंने सीपीएम पार्टी छोड़ी है उन्हें और उनके परिवार को धमकी मिल रही है। मोहम्मद जसीमुद्दीन ने पिछले महीने ही भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली है। त्रिपुरा में भाजपा के अल्पसंख्यक मोर्चा में 25 मुस्लिम परिवार हैं, जिन्होंने हाल ही में भाजपा का दामन थामा है। इन लोगों को शांतिबाजार स्थित मध्य तिला में स्थानीय मस्जिद में जाने से रोक दिया गया।

moque

इस मामले में एसपी मंचक इप्पर ने कहा कि यह कुछ लोगों के आपसी मतभेद की वजह से हुआ है। इस मामले में जब राज्य के सीपीएम सचिव बिजान धर से बात की गई तो उन्होंने तमाम आरोपों को खारिज किया है। वहीं जैसमुद्दीन का कहना है कि पहले तमाम परिवारों को धमकी दी गई, इसके बाद इन लोगों का सामाजिक बहिष्कार किया जा रहा है। सभी मुस्लिम परिवारों के साथ गलत व्यवहार किया जा रहा है कि क्योंकि इन लोगों ने भाजपा की सदस्यता ली है।

इसे भी पढ़ें- इंदौर के अस्पताल में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से 17 मौतें, प्रशासन ने कहा- यह मौतें सामान्य

जसीमुद्दीन ने आरोप लगाया है कि इन लोगों को मनरेगा सहित तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं दिया जा रहा है, जबसे इन लोगों ने भाजपा की सदस्यता ली है। यही नहीं एक हफ्ते पहले सीपीएम नेता ने मुस्लिम धर्मगुरुओं को को कहा है कि इन लोगों को मस्जिद में प्रवेश नहीं करने दिया जाए। इस मामले में मंचक इप्पर ने कहा कि हम लोगों के मौलिक अधिकार की सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाएंग और सुनिश्चित करेंगे कि किसी के साथ भेदभाव नहीं हो। इस पूरे विवाद को इप्पर ने आपसी मतभेद का मामला बताया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP leader alleges that muslims are denied entry in the mosque. They were denied the entry because they joined BJP.
Please Wait while comments are loading...