यूपी में कई अधिकारी सपा पदाधिकारी की तरह कर रहे हैं काम- भाजपा

भाजपा ने अखिलेश यादव पर लगाए संगीन आरोप, बोले हाल में की गई तैनाती चुनावी लाभ के लिए, कई अधिकारी सपा पदाधिकारी की तरह कर रहे हैं काम

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चुनावों के ऐलान के बाद से ही प्रदेश में आचार संहिता के उल्लंघन के तमाम आरोप विरोधी दल के नेता एक दूसरे पर लगा रहे हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने सपा सरकार पर अधिकारियों को अपने पक्ष में इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है। केशव प्रसाद ने कहा कि प्रदे के कई अधिकारी समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी के तौर पर काम कर रहे हैं, उन्होंने सपा सरकार द्वारा किए गए हाल के स्थानांतरण को चुनाव आयोग से रद्द करने की अपील की है।

BJP alleges Akhilesh Yadav for appointing of officers to get advantage in election

केशव प्रसाद मौर्या ने अखिलेश यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि अखिलेश यादव ने योजनाबद्ध तरीके से अधिकारियों की तैनाती की है, जिससे मतदाताओं को प्रभावित किया जा सके। उन्होंने चुनाव आयोग से मांग की है कि ऐसे तमाम अधिकारियों को तुरंत हटाया जाए। प्रदेश में हर स्तर पर अधिकारियों की तैनाती की गई है। जिसमें तहसीलदार, एसडीएम, एसो, डीएम, डीएसपी से लेकर तामा अधिकारी शामिल हैं। आगामी चुनाव में वोटबैंक के लिए ये तैनाती की गई हैं। इस बाबत केशव प्रसाद मौर्या ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर जल्द से जल्द इन तैनातियों को रद्द करने की अपील की है।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में 4 जनवरी को चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही आदर्श आचार संहिता को लागू कर दिया है, जिसके अनुसार प्रदेश में चुनाव आयोग की अनुमति के बिना कोई भी पार्टी प्रदेश में चुनाव प्रचार नहीं कर सकती है और ना ही सरकार द्वारा इस तरह के फैसले लिए जा सकते हैं जिसका चुनाव में लाभ मिल सके या फिर जिस फैसले से चुनाव की प्रक्रिया को बाधित किया जा सके। बहरहाल देखने वाली बात यह है कि चुनाव की तारीखों की घोषणा से पहले की गई इन तैनातियों पर चुनाव आयोग क्या रुख अख्तियार करता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP alleges Akhilesh Yadav for appointing of officers to get advantage in election. Keshav Prasad Maurya files a complaint to the Election commission.
Please Wait while comments are loading...