बनासकांठा में क्या बोले पीएम मोदी, रैली की 10 बड़ी बातें

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

डीसा (गुजरात)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के बनासकांठा में किसान रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने नोटबंदी को लेकर विपक्ष के रवैये की आलोचना की।

कौन थे गलबाभाई नानजीभाई पटेल जिनके सम्मान में मोदी ने सिर झुकाया

पीएम मोदी के रैली की बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनासकांठा के डीसा में किसान रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने बनासकांठा के लोगों की तारीफ की। इस दौरान उन्होंने नोटबंदी का जिक्र करते हुए कहा कि ये फैसला गरीबों को उनका हक दिलाने के लिए लिया गया है।

नोटबंदी पर बोले पीएम, गरीब की ताकत बढ़ाने के लिए ये काम किया

'मैं ईमानदार लोगों के साथ खड़ा हूं'

'मैं ईमानदार लोगों के साथ खड़ा हूं'

पीएम मोदी ने कहा कि मैं ईमानदार लोगों के साथ खड़ा हूं तो उन्हें भड़काया जा रहा है। बावजूद इसके लोग इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों को ताकत देता है जाली नोट, सीमा पार क्या हो रहा है सब जानते हैं।

उन्होंने कहा कि जाली नोटों के कारोबारी जितने देश में नहीं उससे ज्यादा देश से बाहर हैं। इस फैसले से उन्हें तगड़ा झटका लगा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी की वजह से नक्सलवाद से जुड़े लोग मुख्यधारा में आने लगे हैं। मेरी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है।

'8 नवंबर के बाद छोटे नोटों की पूछ बढ़ी है'

'8 नवंबर के बाद छोटे नोटों की पूछ बढ़ी है'

नोटबंदी पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 8 नवंबर के बाद बड़े नोटों की नहीं बल्कि छोटे नोटों की पूछ बढ़ी है। पीएम मोदी ने कहा कि 8 नवंबर के पहले 100 के नोट की कोई कीमत थी क्या? 50 के नोट की कोई कीमत थी क्या? छोटे को कोई पूछता था क्या?

उन्होंने कहा कि 8 तारीख से पहले 100, 50, 20 के नोटों की कोई कीमत थी क्या? 8 तारीख के बाद छोटे नोटों में जान आ गई। उन्होंने कहा कि गरीब की ताकत बढ़ाने के लिए ये काम मैंने किया।

'संसद नहीं चलने की वजह से मैंने जनसभा में बोलने का फैसला किया'

'संसद नहीं चलने की वजह से मैंने जनसभा में बोलने का फैसला किया'

नोटबंदी पर संसद नहीं चलने को लेकर पीएम मोदी ने विपक्ष के रवैये की आलोचना की। उन्होंने कहा कि विपक्ष का झूठ टिक नहीं पाता इसलिए वो संसद में हंगामा करते हैं। संसद नहीं चलने की वजह से ही मैंने लोकसभा में नहीं बोलकर जनसभा में बोलने का फैसला किया।

'संसद नहीं चलने से राष्ट्रपति भी दुखी'

'संसद नहीं चलने से राष्ट्रपति भी दुखी'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विपक्षी सांसद संसद को चलने नहीं दे रहे हैं। इससे हमारे राष्ट्रपति भी दुखी हो गए। आखिरकार उन्हें सार्वजनिक तौर से सांसदों को टोकना पड़ा। पीएम मोदी ने कहा कि अगर नोटबंदी पर संसद में चर्चा हुई तो मैं वहां भी बोलूंगा।

पीएम मोदी ने कहा कि लोग एक तरफ तो नीतियों का विरोध करते हैं और दूसरी तरफ मतदाता सूची पर ध्यान देते हैं।

'बैंक आपके मोबाइल की कतार में खड़ा हो जाएगा'

'बैंक आपके मोबाइल की कतार में खड़ा हो जाएगा'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वक्त बदल गया है कि अब आपके मोबाइल फोन में ही बैंक आ गया है। अब आपको बैंक की कतार में जाने की जरूरत नहीं होगी, बल्कि बैंक आपके मोबाइल की कतार में खड़ा हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करने ज्यादा फायदे हैं। पहले चेक काटने पर कई बार चेक वापस आ जाते थे। जिसको लेकर कोर्ट में मामला चलता था। मोबाइल से पेमेंट करने पर ऐसी कोई समस्या नहीं आती।

'काला धन रखने वाला कोई भी नहीं बचेगा'

'काला धन रखने वाला कोई भी नहीं बचेगा'

पीएम मोदी ने कहा कि काला धन रखने वाला कोई भी नहीं बचेगा। बैंक में फर्जीवाड़ा करने वाले कई लोग सलाखों के पीछे जा रहे हैं। उन्हें लगा होगा कि सामने से न सही पिछले दरवाजे से वो फर्जीवाड़ा करेंगे तो उन्हें बता दूं कि हमने पिछले दरवाजे पर भी कैमरे लगाए हैं। 8 तारीख के बाद पाप करने वाले लोग बचने वाले नहीं हैं।

'नोटबंदी का फैसला आसान नहीं है'

'नोटबंदी का फैसला आसान नहीं है'

नोटबंदी के फैसले से लोगों की हो रही परेशानी पर पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी का फैसला आसान नहीं है। मैंने कहा था कि 50 दिन तकलीफ होगी ही लेकिन 50 दिन के बाद स्थिति सामान्य होती जाएगी। 70 साल तक ईमानदार लोगों को परेशान किया गया। मैंने ईमानदारों के हित में काम किया। मैं लोगों को धन्यवाद देता हूं।

'बनासकांठा के किसानों ने आलू की पैदावार का जो रेकॉर्ड बनाया है'

'बनासकांठा के किसानों ने आलू की पैदावार का जो रेकॉर्ड बनाया है'

पीएम मोदी ने कहा कि बनासकांठा के किसान मेरे पुतले जलाते थे, लेकिन मैं उनके बीच जाता था और कहता था कि भाग्य बदलना है तो पानी बचाना होगा, मेरा सौभाग्य है कि यहां के किसानों ने मेरी बात मानी और आज यह जिला गुजरात में सिंचाई के मामले में नंबर एक पर है। आज बनासकांठा के किसानों ने आलू की पैदावार का जो रेकॉर्ड बनाया है वह और कोई नहीं कर सका है।

'बनासकांठा ने श्वेत क्रांति के साथ स्वीट क्रांति का बिगुल बजाया है'

'बनासकांठा ने श्वेत क्रांति के साथ स्वीट क्रांति का बिगुल बजाया है'

पीएम मोदी ने बनासकांठा का जिक्र करते हुए कहा कि जहां किसानों के पास आत्महत्या के अलावा कोई चारा नहीं बचता था वह आज आगे बढ़ रहा है। बनासकांठा ने श्वेत क्रांति के साथ स्वीट क्रांति का बिगुल बजाया है। अब यहां शहद उत्पादन भी शुरू हो गया है। आज बनास डेयरी ने अमूल के साथ चीज के उत्पादन का भी काम शुरू किया। लोग अमूल के चीज की मांग बहुत बढ़ गई है।

पीएम मोदी ने किया ऋषि चार्वाक का जिक्र

पीएम मोदी ने किया ऋषि चार्वाक का जिक्र

पीएम मोदी ने इस दौरान कई उदाहरण से भी लोगों को समझाने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि चार्वाक ऋषि ने कहा था कि मृत्यु के बाद कुछ नहीं होगा, इसलिए सारे सुख ले लो, लेकिन इस दर्शन को हमारे देश ने स्वीकार नहीं किया। ऋणं लेत्वा, घृतं पिबेत की बात करने वालों को सोचना होगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Big statement PM Narendra Modi rally in banaskantha gujrat.
Please Wait while comments are loading...