बेंगलुरु छेड़छाड़ मामला: ना घूमो, ना पार्टी करो, ना सांस लो... वरना रेप हो जाएगा...

बेंग्लुरू में 31 दिसंबर की रात शहर के प्रमुख इलाके में भीड़ का फायदा उठाकर कई लड़कियों और महिलाओं से छेड़छाड़ हुई थी।

Subscribe to Oneindia Hindi

बेंग्लुरू। नए साल के जश्न पर आईटीहब कहे जाने वाले बेंगलुरु में लड़कियों के साथ जैसी शर्मनाक हरकत हुई है, उसने समाज के कुछ लोगों की गंदी मानसिकता को उजागर कर दिया है।

बेंगलुरु छेड़छाड़ मामले में CCTV जांच में पुलिस को मिले अहम सबूत, FIR दर्ज

Bengaluru Woman Molested On Street: Don’t live, Don’t breathe, Because some men rape

इस बारे में पुलिस सक्रिय हो गई है और उम्मीद है इस घटना के जिम्मेदार लोगों को सजा भी मिल जाए लेकिन जिस तरह से इस गंदे हादसों पर देश के संभ्रात नेतगणों का बयान आया है, उसने ये सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आधुनिकता के इस दौर में आज भी कुछ लोगों की नजर में महिलाओं का कोई अस्तित्व नहीं है।

समाज के गिद्धनजरों में पीड़ित महिला ही अपराधी

मर्द चाहे जितनी दारू पीएं, लेटनाइट पार्टी करें, अश्लील हरकत करें या फिर किसी भी महिला की इज्जत को सरेआम तार-तार करें, उनकी कभी कोई गलती नहीं होती। समाज के गिद्धनजरों में पीड़ित महिला ही अपराधी होती है। ये कहना हमारा नहीं बल्कि एक महिला नूपूर का हो जिन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक ट्वीट करके लोगों के सामने समाज की गंदी तस्वीर को पेश किया है।

अच्छे कपड़े मत पहनों, पार्टी ना करो, खुली हवा में सांस ना लो

सपा नेता अबू आजमी और कर्नाटक के गृहमंत्री जी परमेश्वर के शर्मनाक बयानों के बाद ट्विटर यूजर नूपूर @UnSubtleDesi... ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक ट्वीट किए, जिसमें उन्होंने लिखा कि महिलाओं तुम अच्छे कपड़े मत पहनों, पार्टी ना करो, खुली हवा में सांस ना लो, अपने को हमेशा कमरे में बंद रखो वरना तुम्हारा रेप हो जाएगा।

Bengaluru Woman Molested On Street: Don’t live, Don’t breathe, Because some men rape

भीड़ का फायदा उठाकर कई लड़कियों और महिलाओं से छेड़छाड़

हालांकि नूपूर के ये सवाल गलत भी नहीं है क्योंकि ये कोई पहला मौका नहीं है जब छेड़छाड़ की घटना के लिए महिलाओं के कपड़ों और मिजाज पर कमेंट किया गया है। गौरतलब है कि 31 दिसंबर की रात शहर के प्रमुख इलाके में भीड़ का फायदा उठाकर कई लड़कियों और महिलाओं से छेड़छाड़ हुई थी, उन्हें गलत ढंग से छुआ गया और गंदे कमेंट्स भी पास किए गए थे। यह सब कुछ शहर उस पॉश इलाके में हुआ जहां दावा किया जा रहा था कि नए साल के जश्न को कंट्रोल करने के लिए 1500 पुलिसकर्मी लगे हुए थे।

जहां गुड़ होगा, वहां चींटियां आएंगी

जिस पर महाराष्ट्र इकाई के सपा प्रमुख अबू आजमी ने कहा था कि जहां गुड़ होगा, वहां चींटियां आएंगी, लड़के और लड़कियों को एक साथ छुट्टा घूमने नहीं देना चाहिए, लड़की जितना कम कपड़ा पहनती हैं, उतनी ही उसके साथ गलत हरकत होगी। अरे जहां पेट्रोल होगा, वहीं आग लगेगी। तो वहीं कर्नाटक के गृहमंत्री जी परमेश्वर ने छेड़छाड़ की घटना के लिए महिलाओं के पहनावे को दोषी ठहराया था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
You need to read this woman's Twitter thread after the Bengaluru New Year Evening 'mass molestation' on Street, Its really Painful.
Please Wait while comments are loading...