आतंकी ने किया खुलासा, कश्मीर हिंसा में पाकिस्तान का हाथ

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में जारी हिंसा के दौरान 25 जुलाई को गिरफ्तार किए गए बहादुर अली ने कैमरे पर अपना बयान दिया है। फिलहाल वह राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की कस्टडी में है। एनआईए के अनुसार बहादुर अली ने खुलासा किया है कि लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के ट्रेनिंग कैंप में 30-50 लोग शामिल थे जो ट्रेनी थे। वे सभी ट्रेनी देश के विभिन्न हिस्सों से आए हुए थे। अली के अनुसार इन लोगों में अफगानिस्तान और पाकिस्तान के लोग भी ट्रेनिंग ले रहे थे।

bahadur

एनआईए का कहना है कि बहादुर अली को जमात-उद-दावा ने भर्ती किया था। बहादुर अली के बयान के आधार पर कश्मीर की हिंसा में एलईटी की भूमिका की जांच की जा रही है। जो आर्टिकल प्राप्त हुए हैं उनके अनुसार आतंकियों को कुछ कोड दिए गए थे। इससे यह पता चलता है कि किसी बहुत ही प्रशिक्षित व्यक्ति ने उन्हें ट्रेनिंग दी थी।

एनआईए ने हर तरह के सबूत इकट्ठा कर लिए हैं। उनके अनुसार बहादुर अली को कश्मीर हिंसा की वजह से बन रही स्थिति का फायदा उठाने के निर्देश मिले थे। बहादुर अली के अनुसार वहां पर सेना के कुछ लोग भी थे जिन्होंने सिविल ड्रेस पहनी थी। एनआईए के आईजी संजीव कुमार का मानना है कि बहादुर अली 11 या 12 जून को भारत की सीमा में कुछ एलईटी के लोगों के साथ दाखिल हुआ था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Bahadur Ali makes his disclosure on camera who was arrested by Indian authorities in Jammu & Kashmir on July 25.
Please Wait while comments are loading...