बीजेपी शासित राज्य में फौजी को बलात्कार करते दिखाया तो मचा बवाल

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

हरियाणा। महेंद्रगढ़ स्थित केंद्रीय यूनिवर्सिटी हरियाणा में नाटक मंचन के दौरान फौजी को बलात्कार करते हुए दिखाने के बाद विश्वविद्यालय राजनीति के अखाड़े में तब्दील हो गया है।

university

नीतीश कटारा हत्या केस में विकास और विशाल को 25 साल की जेल

बांग्ला की मशहूर साहित्यकार महाश्वेता देवी का 90 साल की उम्र में निधन 28 जुलाई को निधन हो गया था। इसके बाद देशभर में महाश्ववेता देवी की लिखी कहानियों का साहित्यिक मंचन कर विभिन्न मंचों से उन्हें याद किया जा रहा है। केन्द्रीय यूनिवर्सिटी हरियाणा में 21 सितंबर को महाश्वेता देवी की कहानी द्रोपदी का नाट्य मंचन किया गया था।

अंग्रेज़ी विभाग के दो प्रोफसरों द्वारा इस नाटक का आयोजन कराया गया था, इस नाटक में वर्दी पहने एक फौजी को नायिका के साथ बलात्कार करते हुए दिखाने के बाद छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद लगातार इस मामले को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहा है।

 

आयोजकों पर देशद्रोह के केस की मांग

विद्यार्थी परिषद इसे एक राष्ट्रद्रोही कदम बताते हुए नाटक के आयोजक शिक्षकों पर देशद्रोह का केस करने की मांग कर रहा है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के साथ कुछ पूर्व सैनिक और पास के गांव के लोग भी यूनिवर्सिटी के गेट पर लगातार विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

यूनिवर्सिटी ने बढ़ते दवाब के बीच दो इस मामले की जांच के लिए दो कमेटियां गठित की हैं। अंग्रेजी विभाग के स्नेहस्ता और मनोज कुमार, नाटक के आयोजक, का कहना है कि उनसे इस बारे में पूछताछ की गई है।

देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने के दबाव के बीच पुलिस ने कहा है कि पहले मामले की जांच की जाएगी, उसके बाद ही मामला दर्ज किया जाएगा।

जानिए क्‍या होता है सर्जिकल स्‍ट्राइक जिसे इंडियन आर्मी ने PoK में दिया अंजाम

 

यूनिवर्सिटी में बात नहीं होगी, तो कहां होगी

आयोजक टीचर स्नेहस्ता का कहना है कि विश्वविद्यालय में फेसबुक को ब्लॉक कर दिया गया है। यूनिवर्सिटी में कोई तरीका नहीं जिससे कि हम छात्रों से बात कर सकें। यूनिवर्सिटी ने इस आयोजन की बाबत हमसे सवाल किया था और हमने अपना जवाब दे दिया है।

इस नाटक के दूसरे आयोजक मनोज कुमार का कहना है कि विश्वविद्यालय रिसर्च और पढ़ने के लिए होते हैं। विश्वविद्यालय ही तो मंच है जहां हम हर तरह के मुद्दों पर बात कर सकते हैं। अगर हम बात नहीं करेंगे तो फिर कौन करेगा। ऐसे तो बहुत से मुद्दे खत्म कर दिए जाएंगे।

मनोज कुमार का कहना है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी की टीचर एसोसिएशन, सेंट्रल यूनिवर्सिटी टीचर्स फेडरेशन और अंबेडकर यूनिवर्सिटी टीचर यूनियन हमारे समर्थन में हैं लेकिन हमारे सहयोगी टीचर इस पर चुप्पी साधे हुए हैं।

 

मामले पर राजनीति की जा रही है

यूनिवर्सिटी के विद्यार्थियों का कहना है कि हर किसी को अपनी बात कहने कहा हक है और अगर कोई परेशानी किसी को है भी तो उसे यूनिवर्सिटी के अंदर ही हल किया जा सकता है। छात्रों का कहना है कि कुछ बाहरी लोग इस पर राजनीतिक लाभ लेना चाहते हैं।

वहीं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को लोगों का कहना है कि जो सैनिक हमारे लिए लड़ते हैं, उनके बारे में इस तरह से दिखाना बेहद गलत है। जिसने भी ये किया है उन पर कार्रवाई की जानी चाहिए।

गुजरात में पकड़ी गई पाकिस्‍तानी नाव, 9 लोगों से हो रही है पूछताछ

महाश्वेता देवी की कहानी द्रौपदी, पश्चिम बंगाल में एक आदिवासी महिला की कहानी है। जो अपनी जाति और महिला होने के कारण राज्य की हिंसा का शिकार होती है। द्रौपदी विश्वविद्यालय में एमए अंग्रेजी पाठ्यक्रम का हिस्सा है।

इसी कहानी का मंचन 21 सितंबर को अंग्रेजी विभाग ने किया था। इस नाटक का वीडियो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और कुछ पूर्व सौनिकों के संगठनों को मिलने के बाद इस पर लगातार हंगामा हो रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Backlash over Army scene in Draupadi
Please Wait while comments are loading...