500-2000 के नए नोट के बारे में अरुण जेटली ने किया बड़ा खुलासा

अरुण जेटली ने बताया कि वैकल्पिक नोट को छापे जाने का काम बेहद गोपनीय तरीके से बहुत पहले से हो रहा था

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 500 और 1000 नोट को प्रतिबंधित करने के फैसले को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने ऐतिहासिक बताया है। उन्होंने कहा कि वैकल्पिक करेंसी की छपाई बेहद ही गोपनीय तरीके से बहुत पहले से की जा रही थी।

arun jaitely

क्या दोस्तों और रिश्तेदारों के खाते से बदल सकते हैं 500-100 के नोट?

जेटली ने अपने साक्षात्कार में कहा कि इस फैसले से देश की अर्थव्यवस्था को काफी फायदा होने वाला है, इस फैसले से हर राज्य को काफी फायदा होगा। लोग अब खरीद-फरोख्त एक नंबर में करेंगे जिसका सीधा लाभ राज्यों को होगा।

जेटली के साक्षात्कार के मुख्य अंश

500-1000 के नोट बैन: इन 50 दिनों में किसकी होगी चांदी और किस पर आएगी आफत

  • यह फैसला सही दिशा का बड़ा फैसला है, जिसे बहुत पहले उठाना चाहिए था, यह फैसला अर्थव्यवस्था पर बड़ा सकारात्मक असर डालेगा।
  • अब 1000 रुपए का नोट नहीं होगा।
  • पॉलिटिकल फंडिंग साफ है यह इसके जरिए आगे बढ़ेगा।
  • इस फैसले का एक ही बड़ा राजनीतिक असर है कि चुनावी प्रक्रिया साफ होगा।
  • हम नहीं चाहते कि अस्पताल और अन्य जगहें कालाधन को सफेद करने का अड्डा बने।
  • जो लोग यह कह रहे हैं कि थोड़ा समय दिया जाना चाहिए, वह ब्लैक मनी को व्हाइट मनी में बदलना चाहते हैं।
  • जिन लोगों के पास 25-50 हजार रुपए हैं उन्हें कोई दिक्कत नहीं होगी, वह अपना पैसा बेधड़क बैंक में जमा कर सकते हैं।
  • अगर जमा किया गया पैसा वैध है तो इसपर टैक्स दिया जा सकता है, लेकिन अगर अवैध पैसा है तो कार्रवाई होगी।
  • आप कितना भी पैसा आपके पास हो बैंक के पास जमा कर सकते हैं, लेकिन आपको टैक्स देना पड़ेगा।
  • कैश मनी सप्लाई कम होगी, ऑफिशियल ट्रांजैक्शन बढ़ेगा, जिससे डायरेक्ट और इनडायरेक्ट टैक्स पर असर पड़ेगा।
  • जिन क्षेत्रों में यह चलता था कि इतना कच्चे का होगा, इतना पक्का होगा, इतना कैश देंगे, इतना बैंक से देंगे वह बंद होगा
  • अर्थव्यवस्था को मदद के लिए बैंक में पैसा बढ़ेगा
  • आपको कालाधन से छुटकारा मिलेगा, भ्रष्टाचार से छुटकारा मिलेगा। अन्य अपराधों से छुटकारा मिलेगा।
  • देश में लोगों को चेक और प्लास्टिक मनी के जरिए काम करने की आदत बढ़ेगी
  • जाली पैसा, आतंक का पैसा बड़ी नोट में था, इस फैसले से यह सब खत्म हो जाएगा।
  • छोटी करेंसी तो चलती रहेगी, लेकिन 85 फीसदी करेंसी 500 और 1000 रुपए की हो गई थी।
  • बैंक में रखेंगे तो पैसा ज्यादा सुरक्षित है, इसपर टैक्स भी नहीं देना पड़ेगा, ब्याज भी मिलेगा।
  • पिछले कई महीनों से वैकल्पिक करेंसी छप रही थी, वह भी गोपनीय था।
  • किसी भी तरह की तकलीफ होगी, यह पूरी तरह से बेबुनियाद है।
  • जनधन योजना के बाद देश में लगभग लोगों के पास बैंक खाता है और जिनके पास नहीं है वह 5 मिनट में बैंक खाता खोल सकते हैं।
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Arun Jaitely exposes that alternative currency was in printing process. He says it was done secretly for long time.
Please Wait while comments are loading...