आर्मी चीफ ने वीके सिंह पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- गलत इरादे से रोक रहे थे प्रमोशन

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आर्मी चीफ जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने पूर्व सेना प्रमुख और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि वीके सिंह ने गलत तरीके और इरादे से उनका प्रमोशन रोकने की कोशिश की। आर्मी चीफ ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एक हलफनामे में यह आरोप लगाए हैं।

vk singh

बुधवार को कोर्ट में दिए गए हलफनामे में जनरल सुहाग ने कहा, 'मुझे 2012 में उस वक्त के सेना प्रमुख की ओर से जानबूझ कर प्रताड़ित किया जा रहा था। उनका एकमात्र उद्देश्य मेरा प्रमोशन रोकना था ताकि मैं आर्मी कमांडर न बन पाऊं। उन्होंने मेरे खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगाए थे।'

पढ़ें: केंद्रीय मंत्री वीके सिंह की पत्नी से ब्लैकमेलिंग, मांगे दो करोड़

पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल ने दायर की है याचिका
सुप्रीम कोर्ट में दायर एक याचिका में जवाब में जनरल दलबीर सिंह सुहाग ने यह हलफनामा दाखिल किया है। याचिका पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल रवि दस्ताने की ओर से डाली गई थी। जिसमें आरोप लगाया गया था कि दलबीर सिंह सुहाग को पक्षपात करके सेना प्रमुख बनाया गया था।

पढ़ें: सऊदी अरब में फंसे 10,000 भारतीय, फिर जनरल सिंह बने उम्‍मीद की किरण

ये है मामला
बता दें कि सुहाग के नेतृत्व वाली एक यूनिट पर 2012 में अप्रैल से मई के बीच पूर्वोत्तर क्षेत्र में हत्याएं और लूटपाट का आरोप था। इसके लिए उस वक्त के सेना प्रमुख वीके सिंह ने सुहाग के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके प्रमोशन पर रोक लगा दी थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Army Chief Dalbir Singh says VK singh tried to deny his promotion over false charges. He kas said this in an affidavit submitted to the Supreme Court Wednesday.
Please Wait while comments are loading...