सेना ने माना, जवानों की पिटाई से ही हुई थी अध्यापक की मौत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। कश्मीर में हो रहे भारी विरोध प्रदर्शन के बीच सेना ने शुक्रवार को यह मान लिया है कि एक गांव में रात के समय छापेमारी के दौरान सेना के जवानों द्वारा पीटे जाने की वजह से ही 32 साल के स्कूल टीचर शब्बीर अहमद मांगू की मौत हुई थी। साथ ही सेना ने यह भी कहा है कि यह पूरी तरह से गलत है, जिसे स्वीकार नहीं किया जाएगा।

kashmir

यह घटना श्रीनगर से करीब 40 किलोमीटर दूर ख्रेव की है, जहां पर बुधवार की रात को एक सरकारी स्कूल में पढ़ाने वाले शब्बीर अहमद और कुछ अन्य लोगों को पीटा गया था। परिजनों का आरोप है कि सेना हर घर में तलाशी ले रही थी और प्रदर्शनकारियों को ढूंढ़-ढूंढ़ के निकाल रही थी। इसी दौरान सेना के लोगों ने शब्बीर अहमद को बुरी तरह पीटा। जिसके बाद से ही कश्मीर में इसे लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है।

कश्मीर: तलाशी के दौरान पिटाई से लेक्चरर की मौत, सेना ने जताया खेद

शुक्रवार को उत्तरी सैन्य कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुडा ने कहा- इस तरह की छापेमारी की इजाजत नहीं है। इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, यह पूरी तरह से गलत है। सेना ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

तहस-नहस कर दिया घर

शब्बीर के परिजनों ने कहा कि सेना के जवानों ने हमारे साथ मारपीट की, घर के शीशे तोड़ दिए और हमारा घर भी तहस नहस कर दिया। उन्होंने कहा कि सेना के जवान घर में घुस गए और लोगों को बाहर निकालकर बुरी तरह से पीटने लगे।

VHP ने कहा दिग्विजय कंफ्यूज्ड मुनव्वर राणा बोले कश्मीर हमारा है

पुलिस के अनुसार इस मारपीट की वजह से करीब 50 लोगों को गंभीर चोटें आई हैं। स्थानीय लोगों को कहना है कि बहुत से घर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। पुलिस ने इस मामले में सेना की छापे मारने वाली एक टुकड़ी के खिलाफ हत्या का केस भी दर्ज कर लिया है।

सीआरपीएफ के जवान ने एंबुलेंस पर चलाया पैलेट गन

एक दूसरी घटना में सीआरपीएफ ने श्रीनगर में मरीज को ले जा रहे एंबुलेंस ड्राइवर पर पैलेट गन से फायर किया। सीआरपीएफ के प्रवक्ता का इस बारे में कहना है कि जिस जवान ने पैलेट गन चलाया था उसे निलंबित कर दिया गया है और उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

कांग्रेस के लिए महंगा साबित होगा भारत अधिकृत कश्मीर बयान?

कश्मीर में मरने वालों की संख्या 65 तक पहुंची

हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत के बाद कश्मीर घाटी में भड़की हिंसा और विरोध प्रदर्शनों में अब तक 65 लोगों की मौत हो चुकी है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
on friday army admitted that a 32 years teacher beaten to death by its soldiers. an investigation is ordered in this regard.
Please Wait while comments are loading...